Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 May 2024 · 1 min read

यही मेरे दिल में ख्याल चल रहा है तुम मुझसे ख़फ़ा हो या मैं खुद

यही मेरे दिल में ख्याल चल रहा है तुम मुझसे ख़फ़ा हो या मैं खुद से ख़फ़ा हूं..!!

1 Like · 28 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जिद बापू की
जिद बापू की
Ghanshyam Poddar
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मोदी जी
मोदी जी
Shivkumar Bilagrami
बारिश के लिए तरस रहे
बारिश के लिए तरस रहे
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
अब मत करो ये Pyar और respect की बातें,
अब मत करो ये Pyar और respect की बातें,
Vishal babu (vishu)
समय के खेल में
समय के खेल में
Dr. Mulla Adam Ali
शालीनता की गणित
शालीनता की गणित
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
पर्यावरण
पर्यावरण
Dr Parveen Thakur
बँटवारे का दर्द
बँटवारे का दर्द
मनोज कर्ण
सोच समझ कर
सोच समझ कर
पूर्वार्थ
ले चलो तुम हमको भी, सनम अपने साथ में
ले चलो तुम हमको भी, सनम अपने साथ में
gurudeenverma198
प्रिये
प्रिये
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
" कैसा हूँ "
Dr Mukesh 'Aseemit'
ऐंचकताने    ऐंचकताने
ऐंचकताने ऐंचकताने
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
फितरत दुनिया की...
फितरत दुनिया की...
डॉ.सीमा अग्रवाल
जीवन
जीवन
Monika Verma
*रक्षक है जनतंत्र का, छोटा-सा अखबार (कुंडलिया)*
*रक्षक है जनतंत्र का, छोटा-सा अखबार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
किसी अंधेरी कोठरी में बैठा वो एक ब्रम्हराक्षस जो जानता है सब
किसी अंधेरी कोठरी में बैठा वो एक ब्रम्हराक्षस जो जानता है सब
Utkarsh Dubey “Kokil”
"संवाद "
DrLakshman Jha Parimal
जिंदगी जीने का कुछ ऐसा अंदाज रक्खो !!
जिंदगी जीने का कुछ ऐसा अंदाज रक्खो !!
शेखर सिंह
#मुक्तक
#मुक्तक
*प्रणय प्रभात*
3159.*पूर्णिका*
3159.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
विश्वास करो
विश्वास करो
TARAN VERMA
Mental health
Mental health
Bidyadhar Mantry
"तलबगार"
Dr. Kishan tandon kranti
हे दिनकर - दीपक नीलपदम्
हे दिनकर - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मनुस्मृति का, राज रहा,
मनुस्मृति का, राज रहा,
SPK Sachin Lodhi
सब कुछ बदल गया,
सब कुछ बदल गया,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
जिस घर में---
जिस घर में---
लक्ष्मी सिंह
विचार और रस [ दो ]
विचार और रस [ दो ]
कवि रमेशराज
Loading...