Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Feb 2024 · 1 min read

यक्ष प्रश्न

एक प्रश्न कौंधा है
मन के कोने में
सोच रहीं हूॅं
पूछ कर
मन हल्का कर लेती हूॅं ,

प्रश्न विचारणीय है
और बड़ा भी
सबके सामने
अपने चिन्ह के साथ
खड़ा भी ,

बिना जांचे-परखे
कुछ भी
कैसा भी लिखकर
किसी भी प्रकाशक से
छपवाया जा सकता है ?

अगर ये किताबें
गिनती में बिकें
तो उसको
एक वस्तु की तरह
बिकवाया जा सकता है ?

ऐसी किताबें अगर
बेस्ट सेलर हो जाती हैं
तो इसको क्या कहा जायेगा
लिखने वाले की शख्सियत
या बेचने वाले की काबिलियत ?

स्वरचित एवं मौलिक
( ममता सिंह देवा )

59 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Mamta Singh Devaa
View all
You may also like:
तू छीनती है गरीब का निवाला, मैं जल जंगल जमीन का सच्चा रखवाला,
तू छीनती है गरीब का निवाला, मैं जल जंगल जमीन का सच्चा रखवाला,
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
चलते-फिरते लिखी गई है,ग़ज़ल
चलते-फिरते लिखी गई है,ग़ज़ल
Shweta Soni
क्या ?
क्या ?
Dinesh Kumar Gangwar
इंसानियत का एहसास
इंसानियत का एहसास
Dr fauzia Naseem shad
*मिलिए उनसे जो गए, तीर्थ अयोध्या धाम (कुंडलिया)*
*मिलिए उनसे जो गए, तीर्थ अयोध्या धाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
"ममतामयी मिनीमाता"
Dr. Kishan tandon kranti
राजनीति के नशा में, मद्यपान की दशा में,
राजनीति के नशा में, मद्यपान की दशा में,
जगदीश शर्मा सहज
प्यार की स्टेजे (प्रक्रिया)
प्यार की स्टेजे (प्रक्रिया)
Ram Krishan Rastogi
बीज और बच्चे
बीज और बच्चे
Manu Vashistha
श्रेष्ठ वही है...
श्रेष्ठ वही है...
Shubham Pandey (S P)
मेरा प्यारा राज्य...... उत्तर प्रदेश
मेरा प्यारा राज्य...... उत्तर प्रदेश
Neeraj Agarwal
अनगढ आवारा पत्थर
अनगढ आवारा पत्थर
Mr. Rajesh Lathwal Chirana
कथनी और करनी में अंतर
कथनी और करनी में अंतर
Dr. Pradeep Kumar Sharma
वज़्न - 2122 1212 22/112 अर्कान - फ़ाइलातुन मुफ़ाइलुन फ़ैलुन/फ़इलुन बह्र - बहर-ए-ख़फ़ीफ़ मख़बून महज़ूफ मक़तूअ काफ़िया: आ स्वर की बंदिश रदीफ़ - न हुआ
वज़्न - 2122 1212 22/112 अर्कान - फ़ाइलातुन मुफ़ाइलुन फ़ैलुन/फ़इलुन बह्र - बहर-ए-ख़फ़ीफ़ मख़बून महज़ूफ मक़तूअ काफ़िया: आ स्वर की बंदिश रदीफ़ - न हुआ
Neelam Sharma
बाट तुम्हारी जोहती, कबसे मैं बेचैन।
बाट तुम्हारी जोहती, कबसे मैं बेचैन।
डॉ.सीमा अग्रवाल
ये कटेगा
ये कटेगा
शेखर सिंह
प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!
प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!
Diwakar Mahto
संत गुरु नानक देवजी का हिंदी साहित्य में योगदान
संत गुरु नानक देवजी का हिंदी साहित्य में योगदान
Indu Singh
बाजार  में हिला नहीं
बाजार में हिला नहीं
AJAY AMITABH SUMAN
नेताजी सुभाषचंद्र बोस
नेताजी सुभाषचंद्र बोस
ऋचा पाठक पंत
दोहा -
दोहा -
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
Friendship Day
Friendship Day
Tushar Jagawat
गमछा जरूरी हs, जब गर्द होला
गमछा जरूरी हs, जब गर्द होला
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
दूसरों के अधिकारों
दूसरों के अधिकारों
Dr.Rashmi Mishra
New light emerges from the depths of experiences, - Desert Fellow Rakesh Yadav
New light emerges from the depths of experiences, - Desert Fellow Rakesh Yadav
Desert fellow Rakesh
छत्तीसगढ़ के युवा नेता शुभम दुष्यंत राणा Shubham Dushyant Rana
छत्तीसगढ़ के युवा नेता शुभम दुष्यंत राणा Shubham Dushyant Rana
Bramhastra sahityapedia
कोरे कागज़ पर
कोरे कागज़ पर
हिमांशु Kulshrestha
■ मीठा-मीठा गप्प, कड़वा-कड़वा थू।
■ मीठा-मीठा गप्प, कड़वा-कड़वा थू।
*Author प्रणय प्रभात*
माँ का जग उपहार अनोखा
माँ का जग उपहार अनोखा
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
तुम वोट अपना मत बेच देना
तुम वोट अपना मत बेच देना
gurudeenverma198
Loading...