Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Mar 2023 · 1 min read

मौसम खराब है

मौसम खराब है
मौसम खराब है तो लोग मौसम बनाते हैं।
कोई इंग्लिश कोई देसी तो कोई ठर्रा चढ़ाते हैं
बन गया मौसम फिर मजा ही मजा है
माली है हालत घर की
फिर सजा ही सजा है
घर में नहीं खाने को नवाब तो शेर है
रो रही है घर में औरत
मुसीबत का ढेर है
गाली गलौज मारपीट डंडा बरसाते हैं
मौसम खराब है तो मौसम बनाते हैं
बदलता है रंग रूप गिरगिट की नाई
गली सड़क पर या नाली पर गिरा है भाई
कभी-कभी बकरी कभी शेर
कभी सज्जन कभी दुर्जन
कभी बिगड़ा हुआ चाल ।।
अपना रंग रूप स्वयं बिगड़ते हैं
मौसम खराब है तो मौसम बनाते हैं।।

Language: Hindi
2 Likes · 160 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ग़ज़ल- मशालें हाथ में लेकर ॲंधेरा ढूॅंढने निकले...
ग़ज़ल- मशालें हाथ में लेकर ॲंधेरा ढूॅंढने निकले...
अरविन्द राजपूत 'कल्प'
फेसबुक
फेसबुक
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
डा. तेज सिंह : हिंदी दलित साहित्यालोचना के एक प्रमुख स्तंभ का स्मरण / MUSAFIR BAITHA
डा. तेज सिंह : हिंदी दलित साहित्यालोचना के एक प्रमुख स्तंभ का स्मरण / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
2630.पूर्णिका
2630.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
- अब नहीं!!
- अब नहीं!!
Seema gupta,Alwar
विचारों का शून्य होना ही शांत होने का आसान तरीका है
विचारों का शून्य होना ही शांत होने का आसान तरीका है
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
दोहे
दोहे
डॉक्टर रागिनी
नमो-नमो
नमो-नमो
Bodhisatva kastooriya
लक्ष्मी-पूजन का अर्थ है- विकारों से मुक्ति
लक्ष्मी-पूजन का अर्थ है- विकारों से मुक्ति
कवि रमेशराज
युवा मन❤️‍🔥🤵
युवा मन❤️‍🔥🤵
डॉ० रोहित कौशिक
याद आती है
याद आती है
इंजी. संजय श्रीवास्तव
चोला रंग बसंती
चोला रंग बसंती
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
पयोनिधि नेह में घोली, मधुर सुर साज है हिंदी।
पयोनिधि नेह में घोली, मधुर सुर साज है हिंदी।
Neelam Sharma
चंदा मामा और चंद्रयान
चंदा मामा और चंद्रयान
Ram Krishan Rastogi
मौनता  विभेद में ही अक्सर पायी जाती है , अपनों में बोलने से
मौनता विभेद में ही अक्सर पायी जाती है , अपनों में बोलने से
DrLakshman Jha Parimal
ज़माना हक़ीक़त
ज़माना हक़ीक़त
Vaishaligoel
मां
मां
Amrit Lal
दूर क्षितिज के पार
दूर क्षितिज के पार
लक्ष्मी सिंह
वृंदावन की यात्रा (यात्रा वृत्तांत)
वृंदावन की यात्रा (यात्रा वृत्तांत)
Ravi Prakash
देश गान
देश गान
Prakash Chandra
■ कारण कुछ भी हो। भूल सुधार स्वागत योग्य।।
■ कारण कुछ भी हो। भूल सुधार स्वागत योग्य।।
*प्रणय प्रभात*
जीत मुश्किल नहीं
जीत मुश्किल नहीं
Surinder blackpen
ब्यूटी विद ब्रेन
ब्यूटी विद ब्रेन
Shekhar Chandra Mitra
चंद्रयान-3
चंद्रयान-3
Mukesh Kumar Sonkar
World Books Day
World Books Day
Tushar Jagawat
// अंधविश्वास //
// अंधविश्वास //
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हिंदुस्तान जिंदाबाद
हिंदुस्तान जिंदाबाद
Mahmood Alam
"नायक"
Dr. Kishan tandon kranti
" काले सफेद की कहानी "
Dr Meenu Poonia
कुंडलिया ....
कुंडलिया ....
sushil sarna
Loading...