Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Feb 2024 · 1 min read

मौसम का मिजाज़ अलबेला

मौसम का मिजाज़,
बनते बिगड़ते देर नहीं,
पल भर मे धूप – छाँव,
क्षण मात्र में वर्षा का जल,
प्रकृति की अद्भुत घटना स्वतंत्र,
हृदय प्रसन्न और सुंदर हो मौसम।

शीतल पवन बयार बहे मनच् सी,
साँसो मे भर दे जीवन की शीतलता,
रूठें का मिजाज़ यूँ पल मे बदल दे,
धारा को सजा दे रंगो से इंद्र धनुष,
आँखों मे उमंग जगा दे,
लालिमा रुधिर कण मे बढ़ाये।

काले श्वेत घन अम्बर से,
सूर्य की किरणों के संग खेले,
छाया को उज्जवल कर दे,
धरा के रंगो को फिर भर दे,
हरे भरे वनों के अंदर,
अंकुरित कर नया जीवन पनपे।

मिजाज़ मौसम का रुसवाई-सा,
तन्हाई और तरुणाई-सा ,
यौवान-सा झलके बरसे सजके,
रूठें नयी वधु-सा,
भिगो-भिगो कर इस धरा को ,
हरियाली बिखेर दे सम्पूर्ण प्रकृति में।

रचनाकार –
बुद्ध प्रकाश ,
मौदहा हमीरपुर।

1 Like · 41 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Buddha Prakash
View all
You may also like:
परिंदा हूं आसमां का
परिंदा हूं आसमां का
Praveen Sain
2316.पूर्णिका
2316.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
उनको ही लाजवाब लिक्खा है
उनको ही लाजवाब लिक्खा है
अरशद रसूल बदायूंनी
जय हो कल्याणी माँ 🙏
जय हो कल्याणी माँ 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
अजीब करामात है
अजीब करामात है
शेखर सिंह
समय यात्रा: मिथक या वास्तविकता?
समय यात्रा: मिथक या वास्तविकता?
Shyam Sundar Subramanian
प्रेम की साधना (एक सच्ची प्रेमकथा पर आधारित)
प्रेम की साधना (एक सच्ची प्रेमकथा पर आधारित)
दुष्यन्त 'बाबा'
किसी अंधेरी कोठरी में बैठा वो एक ब्रम्हराक्षस जो जानता है सब
किसी अंधेरी कोठरी में बैठा वो एक ब्रम्हराक्षस जो जानता है सब
Utkarsh Dubey “Kokil”
कॉलेज वाला प्यार
कॉलेज वाला प्यार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
अगर प्यार  की राह  पर हम चलेंगे
अगर प्यार की राह पर हम चलेंगे
Dr Archana Gupta
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मुझको चाहिए एक वही
मुझको चाहिए एक वही
Keshav kishor Kumar
अब बस बहुत हुआ हमारा इम्तिहान
अब बस बहुत हुआ हमारा इम्तिहान
ruby kumari
सवालात कितने हैं
सवालात कितने हैं
Dr fauzia Naseem shad
इस दरिया के पानी में जब मिला,
इस दरिया के पानी में जब मिला,
Sahil Ahmad
मुझे मालूम है, मेरे मरने पे वो भी
मुझे मालूम है, मेरे मरने पे वो भी "अश्क " बहाए होगे..?
Sandeep Mishra
#शेर
#शेर
*Author प्रणय प्रभात*
राम-राज्य
राम-राज्य
Shekhar Chandra Mitra
मैं कौन हूँ?मेरा कौन है ?सोच तो मेरे भाई.....
मैं कौन हूँ?मेरा कौन है ?सोच तो मेरे भाई.....
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
विरह
विरह
नवीन जोशी 'नवल'
* संस्कार *
* संस्कार *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मेरी शक्ति
मेरी शक्ति
Dr.Priya Soni Khare
"सहर देना"
Dr. Kishan tandon kranti
एहसास
एहसास
Kanchan Khanna
मैं उसकी निग़हबानी का ऐसा शिकार हूँ
मैं उसकी निग़हबानी का ऐसा शिकार हूँ
Shweta Soni
ना जाने कैसी मोहब्बत कर बैठे है?
ना जाने कैसी मोहब्बत कर बैठे है?
Kanchan Alok Malu
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
*दिल में  बसाई तस्वीर है*
*दिल में बसाई तस्वीर है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
*सपना देखो हिंदी गूँजे, सारे हिंदुस्तान में(गीत)*
*सपना देखो हिंदी गूँजे, सारे हिंदुस्तान में(गीत)*
Ravi Prakash
मोदी क्या कर लेगा
मोदी क्या कर लेगा
Satish Srijan
Loading...