Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jul 2016 · 1 min read

मौलिक कवि हूँ मित्रों दिल के भाव लिखता हूँ ।

मौलिक कवि हूँ मित्रों दिल के भाव लिखता हूँ ।
रिसते पुराने जो भि मेरे घाव लिखता हूँ ।।
नदियाँ, तालाब, पेड़, पौधे है मुझे प्यारे ,
रहता शहर में हूँ भले मै गाँव लिखता हूँ ।।

करीब था क़रीब हूँ क़रीब रहूँगा !!
हबीब था हबीब हूँ हबीब रहूँगा !!
दिल में बसे हो आप सुगंध की तरह,
तब से मै खुशनशीब खुशनशीब रहूँगा !!

जो भी दिया प्रभु ने मुझको कम नहीं दिया !
खुशियाँ भरी है जिन्दगी में गम नहीं दिया !!
अहसानमंद हूँ मैं उस परवरदिगार का ,
सोला दिया खुदा ने पर शबनम नहीं दिया !!

आप यूँ हँसते रहो तो गीत गाऊँगा !
शब्द गंगाजल सा मै पुनीत गाऊँगा !!
दिल में मेरे दर्द है तो क्या हुआ जुगनू ,
गुजरा ज़माना याद है अतीत गाऊँगा !!

पी कर दूध नागो की तरह डसना नहीं आया !
फरेबी मित्र से यारों मुझे बचना नहीं आया !!
भुलाकर मान मर्यादा किया सबका चरण बंदन ,
वो आगे बढ़ गया मुझसे मुझे बढ़ना नहीं आया !!

Language: Hindi
Tag: मुक्तक
172 Views
You may also like:
आपकी तरहां मैं भी
gurudeenverma198
शोर मचाने वाले गिरोह
Anamika Singh
तुमको भूल ना पाएंगे
Alok Saxena
नसीब
DESH RAJ
ये सिर्फ मैं जानता हूँ
Swami Ganganiya
श्याम घनाक्षरी-2
सूर्यकांत द्विवेदी
स्पार्टकस का विद्रोह
Shekhar Chandra Mitra
*आजादी (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
जैसा भी ये जीवन मेरा है।
Saraswati Bajpai
ध्यान
विशाल शुक्ल
He is " Lord " of every things
Ram Ishwar Bharati
'The Republic Day '- in patriotic way !
Buddha Prakash
यही तो इश्क है पगले
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
बेटियां।
Taj Mohammad
प्रेम की राह पर-59
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जुल्म
AMRESH KUMAR VERMA
हाथों को मंदिर में नहीं, मरघट में जोड़ गयी वो।
Manisha Manjari
ये दिल मेरा था, अब उनका हो गया
Ram Krishan Rastogi
समीक्षा -'रचनाकार पत्रिका' संपादक 'संजीत सिंह यश'
Rashmi Sanjay
Writing Challenge- वादा (Promise)
Sahityapedia
मैं छोटी नन्हीं सी गुड़िया ।
लक्ष्मी सिंह
हमने किस्मत से आँखें लड़ाई मगर
VINOD KUMAR CHAUHAN
मिट्टी के दीप जलाना
Yash Tanha Shayar Hu
हिन्दू मुस्लिम समन्वय के प्रतीक कबीर बाबा
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
एक खास याद 'बापू' के नाम
Seema 'Tu hai na'
हिन्दी हमारी शान है, हिन्दी हमारा मान है।
Dushyant Kumar
बेचैन कागज
Dr Meenu Poonia
✍️एक लाश संवार होती✍️
'अशांत' शेखर
मेरे बुद्ध महान !
मनोज कर्ण
एक ज़िंदगी में
Dr fauzia Naseem shad
Loading...