Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jul 2016 · 1 min read

मौलिक कवि हूँ मित्रों दिल के भाव लिखता हूँ ।

मौलिक कवि हूँ मित्रों दिल के भाव लिखता हूँ ।
रिसते पुराने जो भि मेरे घाव लिखता हूँ ।।
नदियाँ, तालाब, पेड़, पौधे है मुझे प्यारे ,
रहता शहर में हूँ भले मै गाँव लिखता हूँ ।।

करीब था क़रीब हूँ क़रीब रहूँगा !!
हबीब था हबीब हूँ हबीब रहूँगा !!
दिल में बसे हो आप सुगंध की तरह,
तब से मै खुशनशीब खुशनशीब रहूँगा !!

जो भी दिया प्रभु ने मुझको कम नहीं दिया !
खुशियाँ भरी है जिन्दगी में गम नहीं दिया !!
अहसानमंद हूँ मैं उस परवरदिगार का ,
सोला दिया खुदा ने पर शबनम नहीं दिया !!

आप यूँ हँसते रहो तो गीत गाऊँगा !
शब्द गंगाजल सा मै पुनीत गाऊँगा !!
दिल में मेरे दर्द है तो क्या हुआ जुगनू ,
गुजरा ज़माना याद है अतीत गाऊँगा !!

पी कर दूध नागो की तरह डसना नहीं आया !
फरेबी मित्र से यारों मुझे बचना नहीं आया !!
भुलाकर मान मर्यादा किया सबका चरण बंदन ,
वो आगे बढ़ गया मुझसे मुझे बढ़ना नहीं आया !!

Language: Hindi
288 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
" सुन‌ सको तो सुनों "
Aarti sirsat
सामाजिक क्रांति
सामाजिक क्रांति
Shekhar Chandra Mitra
पास आएगा कभी
पास आएगा कभी
surenderpal vaidya
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मां मेरे सिर पर झीना सा दुपट्टा दे दो ,
मां मेरे सिर पर झीना सा दुपट्टा दे दो ,
Manju sagar
नया ट्रैफिक-प्लान (बाल कविता)
नया ट्रैफिक-प्लान (बाल कविता)
Ravi Prakash
"हालात"
Dr. Kishan tandon kranti
Dr Arun Kumar Shastri
Dr Arun Kumar Shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
एक ठंडी हवा का झोंका है बेटी: राकेश देवडे़ बिरसावादी
एक ठंडी हवा का झोंका है बेटी: राकेश देवडे़ बिरसावादी
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
प्रेमियों के भरोसे ज़िन्दगी नही चला करती मित्र...
प्रेमियों के भरोसे ज़िन्दगी नही चला करती मित्र...
पूर्वार्थ
عيشُ عشرت کے مکاں
عيشُ عشرت کے مکاں
अरशद रसूल बदायूंनी
चुभती है रौशनी
चुभती है रौशनी
Dr fauzia Naseem shad
धरती को‌ हम स्वर्ग बनायें
धरती को‌ हम स्वर्ग बनायें
Chunnu Lal Gupta
ज़िद
ज़िद
Dr. Seema Varma
अब गूंजेगे मोहब्बत के तराने
अब गूंजेगे मोहब्बत के तराने
Surinder blackpen
उनसे बिछड़ कर ना जाने फिर कहां मिले
उनसे बिछड़ कर ना जाने फिर कहां मिले
श्याम सिंह बिष्ट
*जातिवाद का खण्डन*
*जातिवाद का खण्डन*
Dushyant Kumar
बाँध लू तुम्हें......
बाँध लू तुम्हें......
Dr Manju Saini
उर्वशी की ‘मी टू’
उर्वशी की ‘मी टू’
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जीवन जोशी कुमायूंनी साहित्य के अमर अमिट हस्ताक्षर
जीवन जोशी कुमायूंनी साहित्य के अमर अमिट हस्ताक्षर
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
वर्ल्डकप-2023 सुर्खियां
वर्ल्डकप-2023 सुर्खियां
दुष्यन्त 'बाबा'
तुम जब भी जमीन पर बैठो तो लोग उसे तुम्हारी औक़ात नहीं बल्कि
तुम जब भी जमीन पर बैठो तो लोग उसे तुम्हारी औक़ात नहीं बल्कि
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
जिसके मन तृष्णा रहे, उपजे दुख सन्ताप।
जिसके मन तृष्णा रहे, उपजे दुख सन्ताप।
अभिनव अदम्य
वर्षा रानी⛈️
वर्षा रानी⛈️
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
" कविता और प्रियतमा
DrLakshman Jha Parimal
*भीड बहुत है लोग नहीं दिखते* ( 11 of 25 )
*भीड बहुत है लोग नहीं दिखते* ( 11 of 25 )
Kshma Urmila
मैं कौन हूँ?मेरा कौन है ?सोच तो मेरे भाई.....
मैं कौन हूँ?मेरा कौन है ?सोच तो मेरे भाई.....
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
आया सावन झूम के, झूमें तरुवर - पात।
आया सावन झूम के, झूमें तरुवर - पात।
डॉ.सीमा अग्रवाल
बचपन कितना सुंदर था।
बचपन कितना सुंदर था।
Surya Barman
हा मैं हारता नहीं, तो जीतता भी नहीं,
हा मैं हारता नहीं, तो जीतता भी नहीं,
Sandeep Mishra
Loading...