Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Jan 2024 · 1 min read

मौन सभी

मौन सभी
दंडित हुए
प्रतिबन्ध
खंडित हुए
रोम रोम पर
देह के
स्पर्श स्वर
मंडित हुए

सुशील सरना

1 Like · 112 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"I'm someone who wouldn't mind spending all day alone.
पूर्वार्थ
अवसाद
अवसाद
Dr. Rajeev Jain
वैर भाव  नहीं  रखिये कभी
वैर भाव नहीं रखिये कभी
Paras Nath Jha
धोखे का दर्द
धोखे का दर्द
Sanjay ' शून्य'
कोई तो मेरा अपना होता
कोई तो मेरा अपना होता
Juhi Grover
वो न जाने कहाँ तक मुझको आजमाएंगे
वो न जाने कहाँ तक मुझको आजमाएंगे
VINOD CHAUHAN
सुख दुख जीवन के चक्र हैं
सुख दुख जीवन के चक्र हैं
ruby kumari
आंखों की गहराई को समझ नहीं सकते,
आंखों की गहराई को समझ नहीं सकते,
Slok maurya "umang"
तुम याद आये !
तुम याद आये !
Ramswaroop Dinkar
क्षतिपूर्ति
क्षतिपूर्ति
Shweta Soni
पहला प्यार
पहला प्यार
Dipak Kumar "Girja"
मेरी तो धड़कनें भी
मेरी तो धड़कनें भी
हिमांशु Kulshrestha
बेहद मुश्किल हो गया, सादा जीवन आज
बेहद मुश्किल हो गया, सादा जीवन आज
महेश चन्द्र त्रिपाठी
विचारों में मतभेद
विचारों में मतभेद
Dr fauzia Naseem shad
हक हैं हमें भी कहने दो
हक हैं हमें भी कहने दो
SHAMA PARVEEN
सच
सच
Neeraj Agarwal
मार्तंड वर्मा का इतिहास
मार्तंड वर्मा का इतिहास
Ajay Shekhavat
-शेखर सिंह
-शेखर सिंह
शेखर सिंह
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
Rj Anand Prajapati
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
चलो माना तुम्हें कष्ट है, वो मस्त है ।
चलो माना तुम्हें कष्ट है, वो मस्त है ।
Dr. Man Mohan Krishna
मित्र
मित्र
लक्ष्मी सिंह
कन्यादान
कन्यादान
Mukesh Kumar Sonkar
3276.*पूर्णिका*
3276.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
■ कटाक्ष...
■ कटाक्ष...
*प्रणय प्रभात*
हरी भरी तुम सब्ज़ी खाओ|
हरी भरी तुम सब्ज़ी खाओ|
Vedha Singh
"नोटा"
Dr. Kishan tandon kranti
सज गई अयोध्या
सज गई अयोध्या
Kumud Srivastava
सावन आज फिर उमड़ आया है,
सावन आज फिर उमड़ आया है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
स्वर्ग से सुन्दर
स्वर्ग से सुन्दर
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Loading...