Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Apr 2022 · 1 min read

मोहब्बत में।

मोहब्बत में आशिकों तुम सब इतना
क्यों कर गुज़रते हो।

इसके अलावा और भी ज़रूरी काम है
वो क्यों नही करते हो?

✍✍ताज मोहम्मद✍✍

Language: Hindi
Tag: शेर
277 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
■ आज का निवेदन...।।
■ आज का निवेदन...।।
*Author प्रणय प्रभात*
वृक्ष धरा की धरोहर है
वृक्ष धरा की धरोहर है
Neeraj Agarwal
भारत भूमि में पग पग घूमे ।
भारत भूमि में पग पग घूमे ।
Buddha Prakash
"शाम-सवेरे मंदिर जाना, दीप जला शीश झुकाना।
आर.एस. 'प्रीतम'
कौआ और कोयल (दोस्ती)
कौआ और कोयल (दोस्ती)
VINOD CHAUHAN
है ख्वाहिश गर तेरे दिल में,
है ख्वाहिश गर तेरे दिल में,
Satish Srijan
💐प्रेम कौतुक-475💐
💐प्रेम कौतुक-475💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
लटकते ताले
लटकते ताले
Kanchan Khanna
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
नये गीत गायें
नये गीत गायें
Arti Bhadauria
// कामयाबी के चार सूत्र //
// कामयाबी के चार सूत्र //
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मोदी जी
मोदी जी
Shivkumar Bilagrami
The greatest luck generator - show up
The greatest luck generator - show up
पूर्वार्थ
23/01.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
23/01.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
(मुक्तक) जऱ-जमीं धन किसी को तुम्हारा मिले।
(मुक्तक) जऱ-जमीं धन किसी को तुम्हारा मिले।
सत्य कुमार प्रेमी
गौभक्त और संकट से गुजरते गाय–बैल / मुसाफ़िर बैठा
गौभक्त और संकट से गुजरते गाय–बैल / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
Writing Challenge- वादा (Promise)
Writing Challenge- वादा (Promise)
Sahityapedia
तेरी मुहब्बत से, अपना अन्तर्मन रच दूं।
तेरी मुहब्बत से, अपना अन्तर्मन रच दूं।
Anand Kumar
निराशा एक आशा
निराशा एक आशा
डॉ. शिव लहरी
नवगीत
नवगीत
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
आंखों पर शायरी
आंखों पर शायरी
Dr fauzia Naseem shad
क्या खूब दिन थे
क्या खूब दिन थे
Pratibha Pandey
रम्भा की मी टू
रम्भा की मी टू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*अंतर्मन में राम जी, रहिए सदा विराज (कुंडलिया)*
*अंतर्मन में राम जी, रहिए सदा विराज (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
🚩🚩 कृतिकार का परिचय/
🚩🚩 कृतिकार का परिचय/ "पं बृजेश कुमार नायक" का परिचय
Pt. Brajesh Kumar Nayak
बुंदेली दोहा प्रतियोगिता-151से चुने हुए श्रेष्ठ दोहे (लुगया)
बुंदेली दोहा प्रतियोगिता-151से चुने हुए श्रेष्ठ दोहे (लुगया)
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
पहले कविता जीती है
पहले कविता जीती है
Niki pushkar
I want to find you in my depth,
I want to find you in my depth,
Sakshi Tripathi
उपदेशों ही मूर्खाणां प्रकोपेच न च शांतय्
उपदेशों ही मूर्खाणां प्रकोपेच न च शांतय्
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
कलम के सहारे आसमान पर चढ़ना आसान नहीं है,
कलम के सहारे आसमान पर चढ़ना आसान नहीं है,
Dr Nisha nandini Bhartiya
Loading...