Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 28, 2022 · 1 min read

मोहब्बत में।

मोहब्बत में आशिकों तुम सब इतना
क्यों कर गुज़रते हो।

इसके अलावा और भी ज़रूरी काम है
वो क्यों नही करते हो?

✍✍ताज मोहम्मद✍✍

146 Views
You may also like:
दिल की आवाज़
Dr fauzia Naseem shad
गर्दिशे दौरा को गुजर जाने दे
shabina. Naaz
खुदाई भरी पड़ी है।
Taj Mohammad
जग का राजा सूर्य
Buddha Prakash
माँ का प्यार
Anamika Singh
✍️बुनियाद✍️
'अशांत' शेखर
विनती
Anamika Singh
मुहब्बत भी क्या है
shabina. Naaz
रुक जा रे पवन रुक जा ।
Buddha Prakash
यह दुनियाँ
Anamika Singh
ज़िंदा हूं मरा नहीं हूं।
Taj Mohammad
शराफत में इसको मुहब्बत लिखेंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
साहब का कुत्ता (हास्य व्यंग्य कहानी)
दुष्यन्त 'बाबा'
पिताजी
विनोद शर्मा सागर
✍️क़ुर्बान मेरा जज़्बा हो✍️
'अशांत' शेखर
देखो-देखो आया सावन।
लक्ष्मी सिंह
"फौजी और उसका शहीद साथी"
Lohit Tamta
✍️रिश्तेदार.. ✍️
Vaishnavi Gupta
कविता संग्रह
श्याम सिंह बिष्ट
पैसा पैसा कैसा पैसा
विजय कुमार अग्रवाल
मुखर तुम्हारा मौन (गीत)
Ravi Prakash
दोस्ती अपनी जगह है आशिकी अपनी जगह
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
खुदा मिल गया
shabina. Naaz
रक्षाबंधन भाई बहन का त्योहार
Ram Krishan Rastogi
मन की पीड़ा
Dr fauzia Naseem shad
✍️आओ हम सोचे✍️
'अशांत' शेखर
गुरु ईश्वर के रूप धरा पर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
इच्छा
Anamika Singh
फोन
Kanchan Khanna
लाल में तुम ग़ुलाब लगती हो
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
Loading...