Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Oct 2023 · 1 min read

“मैं एक पिता हूँ”

“मैं एक पिता हूँ”

मन में कई अरमान लिए,
अपनों के लिए जीता हूँ।
हाँ मैं एक पिता हूँ,
हाँ मैं एक पिता हूँ।

परिवार के हर दुख र्दद को,
प्रेम के धागो से सिता हूँ।
हाँ मैं एक पिता हूँ,
हाँ मैं एक पिता हूँ।।

पुष्पराज फूलदास अनंत

1 Like · 1 Comment · 123 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*छोटी होती अक्ल है, मोटी भैंस अपार * *(कुंडलिया)*
*छोटी होती अक्ल है, मोटी भैंस अपार * *(कुंडलिया)*
Ravi Prakash
राख देख  शमशान  में, मनवा  करे सवाल।
राख देख शमशान में, मनवा करे सवाल।
दुष्यन्त 'बाबा'
*बूढ़े होने पर भी अपनी बुद्धि को तेज रखना चाहते हैं तो अपनी
*बूढ़े होने पर भी अपनी बुद्धि को तेज रखना चाहते हैं तो अपनी
Shashi kala vyas
* थके पथिक को *
* थके पथिक को *
surenderpal vaidya
"मुसव्विर ने सभी रंगों को
*Author प्रणय प्रभात*
देश भक्ति
देश भक्ति
Sidhartha Mishra
जगमगाती चाँदनी है इस शहर में
जगमगाती चाँदनी है इस शहर में
Dr Archana Gupta
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
'अशांत' शेखर
आज हमने उनके ऊपर कुछ लिखने की कोशिश की,
आज हमने उनके ऊपर कुछ लिखने की कोशिश की,
Vishal babu (vishu)
किरायेदार
किरायेदार
Keshi Gupta
सवाल~
सवाल~
दिनेश एल० "जैहिंद"
रिश्ते..
रिश्ते..
हिमांशु Kulshrestha
*हिंदी की बिंदी भी रखती है गजब का दम 💪🏻*
*हिंदी की बिंदी भी रखती है गजब का दम 💪🏻*
Radhakishan R. Mundhra
जिन्दगी जीना बहुत ही आसान है...
जिन्दगी जीना बहुत ही आसान है...
Abhijeet
2979.*पूर्णिका*
2979.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अबला नारी
अबला नारी
Neeraj Agarwal
ठंड
ठंड
Ranjeet kumar patre
तन को कष्ट न दीजिए, दाम्पत्य अनमोल।
तन को कष्ट न दीजिए, दाम्पत्य अनमोल।
जगदीश शर्मा सहज
निर्झरिणी है काव्य की, झर झर बहती जाय
निर्झरिणी है काव्य की, झर झर बहती जाय
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"आशिकी"
Dr. Kishan tandon kranti
चार कंधों पर मैं जब, वे जान जा रहा था
चार कंधों पर मैं जब, वे जान जा रहा था
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
खो गई जो किर्ति भारत की उसे वापस दिला दो।
खो गई जो किर्ति भारत की उसे वापस दिला दो।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
प्राप्त हो जिस रूप में
प्राप्त हो जिस रूप में
Dr fauzia Naseem shad
एक फूल
एक फूल
Anil "Aadarsh"
शादी
शादी
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
ऐसी विकट परिस्थिति,
ऐसी विकट परिस्थिति,
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
I hope one day the clouds will be gone, and the bright sun will rise.
I hope one day the clouds will be gone, and the bright sun will rise.
Manisha Manjari
’बज्जिका’ लोकभाषा पर एक परिचयात्मक आलेख / DR. MUSAFIR BAITHA
’बज्जिका’ लोकभाषा पर एक परिचयात्मक आलेख / DR. MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
फूल मोंगरा
फूल मोंगरा
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
आयी ऋतु बसंत की
आयी ऋतु बसंत की
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
Loading...