Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 May 2024 · 1 min read

मेरे पांच रोला छंद

मेरे पांच रोला छंद

सममात्रिक छंद / 11, 13 मात्रा भार / दोहा छंद से उलट समचरण में 13मात्रा में समतुकांत l विषम चरण में 11 मात्राएं अतुकांत l

मदमाया परिवेश ,पवन में गन्ध घुलावे
कोकिल अपने बैन ,पपीहा सँग मिलावे ।
हुई फगुनी लाल ,मधुरस भीगी चुनरिया
मंद मंद बज रही ,अधर पे मदिर मुरलिया ।। 1।।

चलती मंद बयार ,ऋतु बन आयी बसन्ती
भवँर करे गुंजार , ध्वनि लागे रसवंती ।
सेमल होवे लाल ,पलाश खिले मुस्कावे
जंगल करके लाल ,भगवा रंग भरमावे ।। 2।।

करती फगुनी हास , आम की डाल बैठ कर
पहुँचे सब के पास , सुरभि के रंग पैठ कर ।
रंग बिरंगे फूल , झूम नाचे इठलावे
अपनी गन्ध बखेर , वन उपवन महकावे ।। 3।।

लख मधुमासी ढंग , फ़ाग मस्ती में आया
डगर डगर पर रंग , गिरा कर शोर मचाया ।
पीले लाल गुलाल , फागुनी को नहलावे
पी कर बूटी भांग , नटखटी हो मस्तावे ।। 4।।

फूले ढाक पलाश , वनों में आग लगावे
कवि संवेदनशील , देख देख कर ललचावे ।
हरे रंग के साथ , केसरी रँग मुस्कावे
सुंदरता की हंसी ,खुशी खुश हो दिखलावे।।5।l

Language: Hindi
1 Like · 30 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
उधार  ...
उधार ...
sushil sarna
* बढ़ेंगे हर कदम *
* बढ़ेंगे हर कदम *
surenderpal vaidya
वक्त
वक्त
Dinesh Kumar Gangwar
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
कवियों का अपना गम...
कवियों का अपना गम...
goutam shaw
फ़ितरत-ए-साँप
फ़ितरत-ए-साँप
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
आकाश मेरे ऊपर
आकाश मेरे ऊपर
Shweta Soni
Dad's Tales of Yore
Dad's Tales of Yore
Natasha Stephen
कभी भी व्यस्तता कहकर ,
कभी भी व्यस्तता कहकर ,
DrLakshman Jha Parimal
एक मन
एक मन
Dr.Priya Soni Khare
दोहे
दोहे
अनिल कुमार निश्छल
जीभ/जिह्वा
जीभ/जिह्वा
लक्ष्मी सिंह
ख्वाब सस्ते में निपट जाते हैं
ख्वाब सस्ते में निपट जाते हैं
सिद्धार्थ गोरखपुरी
.........,
.........,
शेखर सिंह
विराम चिह्न
विराम चिह्न
Neelam Sharma
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
3336.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3336.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
मन मेरा क्यों उदास है.....!
मन मेरा क्यों उदास है.....!
VEDANTA PATEL
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
स्वयं पर नियंत्रण रखना
स्वयं पर नियंत्रण रखना
Sonam Puneet Dubey
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
शुम प्रभात मित्रो !
शुम प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
शोर से मौन को
शोर से मौन को
Dr fauzia Naseem shad
*इस वसंत में मौन तोड़कर, आओ मन से गीत लिखें (गीत)*
*इस वसंत में मौन तोड़कर, आओ मन से गीत लिखें (गीत)*
Ravi Prakash
****हमारे मोदी****
****हमारे मोदी****
Kavita Chouhan
मुझको कबतक रोकोगे
मुझको कबतक रोकोगे
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
सगीर की ग़ज़ल
सगीर की ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
वास्ते हक के लिए था फैसला शब्बीर का(सलाम इमाम हुसैन (A.S.)की शान में)
वास्ते हक के लिए था फैसला शब्बीर का(सलाम इमाम हुसैन (A.S.)की शान में)
shabina. Naaz
लुटा दी सब दौलत, पर मुस्कान बाकी है,
लुटा दी सब दौलत, पर मुस्कान बाकी है,
Rajesh Kumar Arjun
तुम जा चुकी
तुम जा चुकी
Kunal Kanth
Loading...