Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Oct 2022 · 1 min read

# मेरे जवान ……

# मेरे जवान …..

करता हूं
तेरे जज्बे को
तहे दिल से
बारंबार सलाम ….!

माय गॉड ,
सत श्री अकाल ,
जय श्री राम,
मेरे जवान ….!

मुझे इससे कुछ ,
लेना-देना नहीं ,
तेरा मजहब क्या
तू है एक इंसान ….!

लूट मची ,
खसोट मची ,
इंसान बिका ,
ईमान बिका ,
फैली हिंसा ,
मची मारकाट ….!

मेरे जवान
क्या कोई नहीं ,
जो दे इन्हें ,
जोरदार डांट ….?

ऐसे हाथों को ,
तू दे काट ,
जो नफरत की
आंधी फैलाते
और देश को ,
दे रहें हैं बांट …..!

चिन्ता नेताम ” मन ”
डोगरगांव (छत्तीसगढ़)

Language: Hindi
2 Likes · 210 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
एतमाद नहीं करते
एतमाद नहीं करते
Dr fauzia Naseem shad
संसद बनी पागलखाना
संसद बनी पागलखाना
Shekhar Chandra Mitra
मज़बूत होने में
मज़बूत होने में
Ranjeet kumar patre
पिता पर एक गजल लिखने का प्रयास
पिता पर एक गजल लिखने का प्रयास
Ram Krishan Rastogi
चंद अशआर
चंद अशआर
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
गरीबी
गरीबी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Let yourself loose,
Let yourself loose,
Dhriti Mishra
"गणतंत्र दिवस"
पंकज कुमार कर्ण
सृष्टि की उत्पत्ति
सृष्टि की उत्पत्ति
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Colours of heart,
Colours of heart,
DrChandan Medatwal
जीभ/जिह्वा
जीभ/जिह्वा
लक्ष्मी सिंह
डिग्रियां तो मात्र आपके शैक्षिक खर्चों की रसीद मात्र हैं ,
डिग्रियां तो मात्र आपके शैक्षिक खर्चों की रसीद मात्र हैं ,
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
पहले की भारतीय सेना
पहले की भारतीय सेना
Satish Srijan
आदरणीय क्या आप ?
आदरणीय क्या आप ?
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
किया है यूँ तो ज़माने ने एहतिराज़ बहुत
किया है यूँ तो ज़माने ने एहतिराज़ बहुत
Sarfaraz Ahmed Aasee
दोहा- सरस्वती
दोहा- सरस्वती
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मौन
मौन
निकेश कुमार ठाकुर
हमारा भारतीय तिरंगा
हमारा भारतीय तिरंगा
Neeraj Agarwal
एक किताब सी तू
एक किताब सी तू
Vikram soni
मौसम का मिजाज़ अलबेला
मौसम का मिजाज़ अलबेला
Buddha Prakash
अभागा
अभागा
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
"दुःख-सुख"
Dr. Kishan tandon kranti
बैठ गए
बैठ गए
विजय कुमार नामदेव
एक बछड़े को देखकर
एक बछड़े को देखकर
Punam Pande
#शेर-
#शेर-
*Author प्रणय प्रभात*
*प्रेम का सिखला रहा, मधु पाठ आज वसंत है(गीत)*
*प्रेम का सिखला रहा, मधु पाठ आज वसंत है(गीत)*
Ravi Prakash
ग़ज़ल/नज़्म - एक वो दोस्त ही तो है जो हर जगहा याद आती है
ग़ज़ल/नज़्म - एक वो दोस्त ही तो है जो हर जगहा याद आती है
अनिल कुमार
हमारे भीतर का बच्चा
हमारे भीतर का बच्चा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
🌹तू दीवानी बन जाती 🌹
🌹तू दीवानी बन जाती 🌹
Dr.Khedu Bharti
Loading...