Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Aug 2023 · 1 min read

मेरी सोच मेरे तू l

कभी सोचा है?
कभी सोचों तो ज़रा।
कभी सोचें तू मुझे,,
कभी सोचु मैं तुझे-
यूहीं ज़रा -ज़रा।।

सुन! इश्क़ की ख़ामोश ज़ुबा,
सुकून इसमें कितना है।
बिन बोले सुन लेना सब,
देख! इश्क़ पे गेहरा; पेहरा है।

कभी सोचा है?
सोच पे पेहरे नहीं।
पेटी मे कैद होके भी,
सोच घूमें जगह- जगह।
काश ये! काश वो!
काश- काश है; सोच मे।
सोच मे; मैं पड़ गई।
जब भी सोचु मैं तुझे।।

कभी सोचा है?
कभी सोचों तो ज़रा।
कितना चाहूं मैं तुझे,
काश तू भी सोचें मुझे!
यूहीं ज़रा -ज़रा।।
बेवजह!

Language: Hindi
1 Like · 1 Comment · 109 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
महादेव का भक्त हूँ
महादेव का भक्त हूँ
लक्ष्मी सिंह
यूनिवर्सल सिविल कोड
यूनिवर्सल सिविल कोड
Dr. Harvinder Singh Bakshi
कौन यहाँ खुश रहता सबकी एक कहानी।
कौन यहाँ खुश रहता सबकी एक कहानी।
Mahendra Narayan
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
सबक
सबक
Dr. Pradeep Kumar Sharma
!!दर्पण!!
!!दर्पण!!
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
सर के बल चलकर आएँगी, खुशियाँ अपने आप।
सर के बल चलकर आएँगी, खुशियाँ अपने आप।
डॉ.सीमा अग्रवाल
" क़ैदी विचाराधीन हूँ "
Chunnu Lal Gupta
लड़का हो या लड़की ये दोनो एक किताब की तरह है ये अपने जीवन का
लड़का हो या लड़की ये दोनो एक किताब की तरह है ये अपने जीवन का
पूर्वार्थ
अकेला
अकेला
Vansh Agarwal
"प्यासा"प्यासा ही चला, मिटा न मन का प्यास ।
Vijay kumar Pandey
*हर शाम निहारूँ मै*
*हर शाम निहारूँ मै*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
2483.पूर्णिका
2483.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
बोलो बोलो,हर हर महादेव बोलो
बोलो बोलो,हर हर महादेव बोलो
gurudeenverma198
मंगलमय कर दो प्रभो ,जटिल जगत की राह (कुंडलिया)
मंगलमय कर दो प्रभो ,जटिल जगत की राह (कुंडलिया)
Ravi Prakash
सन्तानों  ने  दर्द   के , लगा   दिए    पैबंद ।
सन्तानों ने दर्द के , लगा दिए पैबंद ।
sushil sarna
गुरु तेग बहादुर जी जन्म दिवस
गुरु तेग बहादुर जी जन्म दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बाल कविता: चूहा
बाल कविता: चूहा
Rajesh Kumar Arjun
शु'आ - ए- उम्मीद
शु'आ - ए- उम्मीद
Shyam Sundar Subramanian
शुरुवात जरूरी है...!!
शुरुवात जरूरी है...!!
Shyam Pandey
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Godambari Negi
सन्देश खाली
सन्देश खाली
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
"बात पते की"
Dr. Kishan tandon kranti
प्रयास
प्रयास
Dr fauzia Naseem shad
■ उल्टा सवाल ■
■ उल्टा सवाल ■
*Author प्रणय प्रभात*
किसी भी काम में आपको मुश्किल तब लगती है जब आप किसी समस्या का
किसी भी काम में आपको मुश्किल तब लगती है जब आप किसी समस्या का
Rj Anand Prajapati
प्यारी तितली
प्यारी तितली
Dr Archana Gupta
बाबा फरीद ! तेरे शहर में हम जबसे आए,
बाबा फरीद ! तेरे शहर में हम जबसे आए,
ओनिका सेतिया 'अनु '
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
अपभ्रंश-अवहट्ट से,
अपभ्रंश-अवहट्ट से,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...