Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Settings
Sep 23, 2022 · 1 min read

मेरी वो बात अक्सर काटता है

मिरी वो बात अक्सर काटता है
मगर कमबख्त हंसकर काटता है

वो चिडिया घर से उड कर क्या गई है
बहुत मुझको मिरा घर काटता है

मिली है मुझसे जिसको सर बुलंदी
वही देखो मिरा सर काटता है

अगर मज़बूत है तेरा क़फस तो
बता फिर क्यों मिरे पर काटता है

सितम मज़लूम पर जब देखता हूँ
तो फिर रातों को बिस्तर काटता है

अभी से किस लिए हटते हो पीछे
हुनर शीशे का पत्थर काटता है

सितमगर से मिलाता है जो नज़रें
वही सर उसका बढ़ कर काटता है

किनारे पर पहुंचता है वो हर दम
जो हाथों से समन्दर काटता है

वही घुट घुट के जीता है यहाँ पर
ज़माने में जिसे ड़र काटता है

न जाने ये वबा कैसी है आतिफ़
गली कूंचों का मन्ज़र काटता है

इरशाद आतिफ

1 Like · 30 Views
You may also like:
ख़्वाहिश पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
आ ख़्वाब बन के आजा
Dr fauzia Naseem shad
पहनते है चरण पादुकाएं ।
Buddha Prakash
बस एक निवाला अपने हिस्से का खिला कर तो देखो।
Gouri tiwari
✍️महानता✍️
'अशांत' शेखर
मेरे पिता है प्यारे पिता
Vishnu Prasad 'panchotiya'
पहचान...
मनोज कर्ण
हमें क़िस्मत ने आज़माया है ।
Dr fauzia Naseem shad
जिन्दगी का सफर
Anamika Singh
वेदों की जननी... नमन तुझे,
मनोज कर्ण
नदी को बहने दो
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
✍️बुरी हु मैं ✍️
Vaishnavi Gupta
इश्क कोई बुरी बात नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
संघर्ष
Sushil chauhan
"बेटी के लिए उसके पिता "
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
भारत भाषा हिन्दी
शेख़ जाफ़र खान
आस
लक्ष्मी सिंह
दिल ज़रूरी है
Dr fauzia Naseem shad
मेरे पापा
Anamika Singh
हर एक रिश्ता निभाता पिता है –गीतिका
रकमिश सुल्तानपुरी
पिता
Keshi Gupta
✍️गलतफहमियां ✍️
Vaishnavi Gupta
A wise man 'The Ambedkar'
Buddha Prakash
ये बारिश का मौसम
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जीवन एक कारखाना है /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जय जय भारत देश महान......
Buddha Prakash
पिता की अभिलाषा
मनोज कर्ण
कहीं पे तो होगा नियंत्रण !
Ajit Kumar "Karn"
बँटवारे का दर्द
मनोज कर्ण
श्रेय एवं प्रेय मार्ग
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...