Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Aug 2023 · 1 min read

मेरी माटी मेरा देश

मेरी माटी मेरा देश
सनातनी अपना परिवेश
अनेकता में हम हैं एक
सत्यमेव जयते संदेश
मेरा प्यारा भारत देश

इसका तिलक लगाकर भाल
रखना होगा सदा खयाल
नहीं पनपने देंगे द्वेष
मेरा प्यारा भारत देश

कितने मनते हैं त्यौहार
प्यार भरा रखते व्यवहार
अलग अलग चाहे हों वेश
मेरा प्यारा भारत देश

भारत के ये वेद पुराण
इनसे मिलता जग को ज्ञान
चर्चा इनकी देश विदेश
मेरा प्यारा भारत देश

डॉ अर्चना गुप्ता
मुरादाबाद

Language: Hindi
3 Likes · 1577 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr Archana Gupta
View all
You may also like:
इश्क समंदर
इश्क समंदर
Neelam Sharma
नये शिल्प में रमेशराज की तेवरी
नये शिल्प में रमेशराज की तेवरी
कवि रमेशराज
प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!
प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!
Diwakar Mahto
जै जै अम्बे
जै जै अम्बे
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
तो अब यह सोचा है मैंने
तो अब यह सोचा है मैंने
gurudeenverma198
दरोगवा / MUSAFIR BAITHA
दरोगवा / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
भारत मे तीन चीजें हमेशा शक के घेरे मे रहतीं है
भारत मे तीन चीजें हमेशा शक के घेरे मे रहतीं है
शेखर सिंह
वक्त ए रूखसती पर उसने पीछे मुड़ के देखा था
वक्त ए रूखसती पर उसने पीछे मुड़ के देखा था
Shweta Soni
तभी लोगों ने संगठन बनाए होंगे
तभी लोगों ने संगठन बनाए होंगे
Maroof aalam
दोस्ती को परखे, अपने प्यार को समजे।
दोस्ती को परखे, अपने प्यार को समजे।
Anil chobisa
यह मत
यह मत
Santosh Shrivastava
मंद मंद बहती हवा
मंद मंद बहती हवा
Soni Gupta
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
मजबूरियों से ज़िन्दा रहा,शौक में मारा गया
मजबूरियों से ज़िन्दा रहा,शौक में मारा गया
पूर्वार्थ
शिद्दत से की गई मोहब्बत
शिद्दत से की गई मोहब्बत
Harminder Kaur
स्वर्णिम दौर
स्वर्णिम दौर
Dr. Kishan tandon kranti
#आदरांजलि
#आदरांजलि
*Author प्रणय प्रभात*
**कब से बंद पड़ी है गली दुकान की**
**कब से बंद पड़ी है गली दुकान की**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
ज़िंदगी में बेहतर
ज़िंदगी में बेहतर
Dr fauzia Naseem shad
सुकर्मों से मिलती है
सुकर्मों से मिलती है
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
-- नफरत है तो है --
-- नफरत है तो है --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
3164.*पूर्णिका*
3164.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
एक शख्स
एक शख्स
Pratibha Pandey
किसे फर्क पड़ता है
किसे फर्क पड़ता है
Sangeeta Beniwal
नाम लिख तो दिया और मिटा भी दिया
नाम लिख तो दिया और मिटा भी दिया
SHAMA PARVEEN
लोगो खामोश रहो
लोगो खामोश रहो
Surinder blackpen
खेल और भावना
खेल और भावना
Mahender Singh
उगते हुए सूरज और ढलते हुए सूरज मैं अंतर सिर्फ समय का होता है
उगते हुए सूरज और ढलते हुए सूरज मैं अंतर सिर्फ समय का होता है
Annu Gurjar
!! यह तो सर गद्दारी है !!
!! यह तो सर गद्दारी है !!
Chunnu Lal Gupta
हमेशा समय के साथ चलें,
हमेशा समय के साथ चलें,
नेताम आर सी
Loading...