Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

मेरी जेब में….. (लघु कथा)

मेरी जेब में…..
*********************************************
बचपन में शम्भू चाचा का बेटा दीपू , मेरा अजीज दोस्त था । एक दिन मैं दीपू को ढूंढते-ढूंढते उसके घर पहुँचा ही था कि शम्भू चाचा दिखाई पड़ गए । मैंने शम्भू चाचा से पूछा- चाचा जी ! दीपू कहाँ है ?
शम्भू चाचा शायद किसी जरूरी काम में व्यस्त थे उन्होने मात्र हाथ के इशारे से ही बताया कि उन्हें नहीं पता । मैं भी कहाँ मानने वाला था मैंने दुबारा कुछ ज्यादा ही ऊँची आवाज में पूछ लिया – दीपू कहाँ है चाचा जी !

शायद दीपू के बारे में मेरे दुबारा पूछने से उनके कार्य में कुछ व्यवधान हुआ हो, उन्होने मुझसे भी ऊंची आवाज में भौहें चढ़ाकर कहा- “मेरी जेब में !”

मेरे जिस मुँह ऊंची आवाज निकली थी, उस पर अब उतना ही बड़ा ताला लटक गया था । अब मेरे पास पूछने के लिए कुछ भी नहीं बचा था ।

*********************************************
हरीश लोहुमी , लखनऊ (उ॰प्र॰)
*********************************************

278 Views
You may also like:
इश्क
goutam shaw
पिता अम्बर हैं इस धारा का
Nitu Sah
नदियों का दर्द
Anamika Singh
【28】 *!* अखरेगी गैर - जिम्मेदारी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
गुरु तेग बहादुर जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सच
अंजनीत निज्जर
कर लो कोशिशें।
Taj Mohammad
सम्मान की निर्वस्त्रता
Manisha Manjari
बिछड़न [भाग ३]
Anamika Singh
कौन थाम लेता है ?
DESH RAJ
अनोखी सीख
DESH RAJ
हर साल क्यों जलाए जाते हैं उत्तराखंड के जंगल ?
Deepak Kohli
Your laugh,Your cry.
Taj Mohammad
ये नारी है नारी।
Taj Mohammad
हंँसना तुम सीखो ।
Buddha Prakash
पर्यावरण
Vijaykumar Gundal
किसकी पीर सुने ? (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
# पर_सनम_तुझे_क्या
D.k Math
एक प्रेम पत्र
Rashmi Sanjay
रिश्तों की बदलती परिभाषा
Anamika Singh
" अपनी ढपली अपना राग "
Dr Meenu Poonia
शब्द बिन, नि:शब्द होते,दिख रहे, संबंध जग में।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
धागा भाव-स्वरूप, प्रीति शुभ रक्षाबंधन
Pt. Brajesh Kumar Nayak
फारसी के विद्वान श्री नावेद कैसर साहब से मुलाकात
Ravi Prakash
जाग्रत हिंदुस्तान चाहिए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
दोस्त जीवन में एक सच्चा दोस्त ज़रूर कमाना….
Piyush Goel
उस निरोगी का रोग
gurudeenverma198
अद्भभुत है स्व की यात्रा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पिता तुम हमारे
Dr. Pratibha Mahi
💐💐प्रेम की राह पर-10💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...