Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Feb 2023 · 1 min read

🌿⚘️ मेरी दिव्य प्रेम कविता ⚘️🌿

“साया जो हर पल साथ रहे
जिसके रहने से विश्वास रहे
दुनिया क्या बिगाड़ेगी
उन खुशियों को
उनकी तलाश रहे
अनुभव उनका कुछ ऐसा है,
जो कभी ना गिरने देता
बुरी नजर का साया भी
राह अपनी बदल लेता
मां बाप के आशीर्वाद से ही होती है
दूर निराशा हाथ बढ़ाकर साथ दे कोई
यही है Prem की परिभाषा….✍️💯⚘️😇

Language: Hindi
1 Like · 41 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
मछली के बाजार
मछली के बाजार
Shekhar Chandra Mitra
बाबा साहब एक महान पुरुष या भगवान
बाबा साहब एक महान पुरुष या भगवान
जय लगन कुमार हैप्पी
अपनी कमी छुपाए कै,रहे पराया देख
अपनी कमी छुपाए कै,रहे पराया देख
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मिलन फूलों का फूलों से हुआ है_
मिलन फूलों का फूलों से हुआ है_
Rajesh vyas
#drarunkumarshastriblogger
#drarunkumarshastriblogger
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पर्वतों का रूप धार लूंगा मैं
पर्वतों का रूप धार लूंगा मैं
कवि दीपक बवेजा
✍️दोस्ती ✍️
✍️दोस्ती ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
आई होली
आई होली
Kavita Chouhan
सरहद पर गिरवीं है
सरहद पर गिरवीं है
Satish Srijan
दो शे' र
दो शे' र
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
सुखी को खोजन में जग गुमया, इस जग मे अनिल सुखी मिला नहीं पाये
सुखी को खोजन में जग गुमया, इस जग मे अनिल सुखी मिला नहीं पाये
Anil chobisa
नववर्ष तुम्हे मंगलमय हो
नववर्ष तुम्हे मंगलमय हो
Ram Krishan Rastogi
दीपावली 🎇🪔❤️
दीपावली 🎇🪔❤️
Skanda Joshi
💐प्रेम कौतुक-416💐
💐प्रेम कौतुक-416💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मुक्तक
मुक्तक
anupma vaani
बाट का बटोही ?
बाट का बटोही ?
Tarun Prasad
खुदसे ही लड़ रहे हैं।
खुदसे ही लड़ रहे हैं।
Taj Mohammad
गज़ब की शीत लहरी है सहन अब की नहीं जाती
गज़ब की शीत लहरी है सहन अब की नहीं जाती
Dr Archana Gupta
सभी कहें उत्तरांचली,  महावीर है नाम
सभी कहें उत्तरांचली, महावीर है नाम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
चाय
चाय
seema varma
भले हमें ना पड़े सुनाई
भले हमें ना पड़े सुनाई
Ranjana Verma
औरत
औरत
shabina. Naaz
लोगों के अल्फाज़ ,
लोगों के अल्फाज़ ,
Buddha Prakash
2318.पूर्णिका
2318.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
उसने मुझको बुलाया तो जाना पड़ा।
उसने मुझको बुलाया तो जाना पड़ा।
सत्य कुमार प्रेमी
सच की पेशी
सच की पेशी
सूर्यकांत द्विवेदी
तुम यूं मिलो की फासला ना रहे दरमियां
तुम यूं मिलो की फासला ना रहे दरमियां
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
सैदखन यी मन उदास रहैय...
सैदखन यी मन उदास रहैय...
Ram Babu Mandal
■सीखने योग्य■
■सीखने योग्य■
*Author प्रणय प्रभात*
*रावण (कुंडलिया)*
*रावण (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Loading...