Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Dec 2022 · 1 min read

मेरा दर्पण

गुण गायेगी मेरे दुनिया, लेकिन तुम कमियाँ भी कहना।
मेरे मन में रहने वाले, मेरा दर्पण बनकर रहना।।

जब भी कभी सफलताओं के,
मद में आत्ममुग्ध हो जाऊँ।
जब भी कभी हार के भय से,
जलकर स्वयं दग्ध हो जाऊँ।

तब तुम मेरा हाथ थामकर, सम्मुख नई चुनौती रखना।
मेरे मन में रहने वाले, मेरा दर्पण बनकर रहना।।

मैं आँगन की देहरी बनकर,
पितरों का सत्कार करूँगी।
हवन, साधना, शुभ कर्मों में,
समिधा बनकर साथ रहूँगी।

बस तुम घृत बनकर पग पग पर, मेरा तेज बढ़ाते रहना।
मेरे मन में रहने वाले, मेरा दर्पण बनकर रहना।।

जब जीवन की सांध्य घड़ी में,
मैं सूरज सी ढलती होऊँ।
हाथों में स्मृतियाँ देकर,
नए मार्ग पर बढ़ती होऊँ।

तब अगले सातों जन्मों तक, साथ रहोगे वादा करना।
मेरे मन में रहने वाले, मेरा दर्पण बनकर रहना।।
©शिवा अवस्थी

Language: Hindi
Tag: गीत
3 Likes · 1 Comment · 247 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सुख दुःख मनुष्य का मानस पुत्र।
सुख दुःख मनुष्य का मानस पुत्र।
लक्ष्मी सिंह
शरद पूर्णिमा की देती हूंँ बधाई, हर घर में खुशियांँ चांँदनी स
शरद पूर्णिमा की देती हूंँ बधाई, हर घर में खुशियांँ चांँदनी स
Neerja Sharma
यादों के अथाह में विष है , तो अमृत भी है छुपी हुई
यादों के अथाह में विष है , तो अमृत भी है छुपी हुई
Atul "Krishn"
हिन्दी दोहा बिषय -हिंदी
हिन्दी दोहा बिषय -हिंदी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
आदिपुरुष आ बिरोध
आदिपुरुष आ बिरोध
Acharya Rama Nand Mandal
#कहमुकरी
#कहमुकरी
Suryakant Dwivedi
जागो बहन जगा दे देश 🙏
जागो बहन जगा दे देश 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
कमियाॅं अपनों में नहीं
कमियाॅं अपनों में नहीं
Harminder Kaur
महाभारत एक अलग पहलू
महाभारत एक अलग पहलू
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
#प्रभात_चिन्तन
#प्रभात_चिन्तन
*प्रणय प्रभात*
मुक्तक- जर-जमीं धन किसी को तुम्हारा मिले।
मुक्तक- जर-जमीं धन किसी को तुम्हारा मिले।
सत्य कुमार प्रेमी
अभिव्यक्ति
अभिव्यक्ति
Punam Pande
तेरे बिना
तेरे बिना
DR ARUN KUMAR SHASTRI
नारी : एक अतुल्य रचना....!
नारी : एक अतुल्य रचना....!
VEDANTA PATEL
एतमाद नहीं करते
एतमाद नहीं करते
Dr fauzia Naseem shad
क्युं बताने से हर्ज़ करते हो
क्युं बताने से हर्ज़ करते हो
Shweta Soni
There will be moments in your life when people will ask you,
There will be moments in your life when people will ask you,
पूर्वार्थ
प्रशंसा नहीं करते ना देते टिप्पणी जो ,
प्रशंसा नहीं करते ना देते टिप्पणी जो ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
23/121.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/121.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
चूरचूर क्यों ना कर चुकी हो दुनिया,आज तूं ख़ुद से वादा कर ले
चूरचूर क्यों ना कर चुकी हो दुनिया,आज तूं ख़ुद से वादा कर ले
Nilesh Premyogi
देख तुम्हें जीती थीं अँखियाँ....
देख तुम्हें जीती थीं अँखियाँ....
डॉ.सीमा अग्रवाल
मन की डोर
मन की डोर
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
वर्तमान, अतीत, भविष्य...!!!!
वर्तमान, अतीत, भविष्य...!!!!
Jyoti Khari
जल संरक्षण
जल संरक्षण
Preeti Karn
ज़िन्दगी
ज़िन्दगी
Santosh Shrivastava
रमेशराज की तेवरी
रमेशराज की तेवरी
कवि रमेशराज
"आत्मा की वीणा"
Dr. Kishan tandon kranti
तेरी
तेरी
Naushaba Suriya
अब नई सहिबो पूछ के रहिबो छत्तीसगढ़ मे
अब नई सहिबो पूछ के रहिबो छत्तीसगढ़ मे
Ranjeet kumar patre
आशा
आशा
Sanjay ' शून्य'
Loading...