Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Apr 2024 · 1 min read

मुहब्बत की दुकान

अगर प्यार नहीं
यह धोखा है
तो तुमको किसने
रोका है…
(१)
तुम झूठ में ही
गले लगा लो उन्हें
तुम्हारे पास भी
मौक़ा है…
(२)
कल बनेगा
तूफ़ान वही जो
आज सिर्फ़ एक
झोंका है…
(३)
किसी नेता का
जनता को नहीं
यह तो बेटा का
बोसा है…
(४)
अपनों का हाल
पूछने में भी
अब यहां क्या कोई
लोचा है…
(५)
क्या तुमने कभी
ग़रीबों की
आंख का आंसू
पोंछा है…
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
#RahulGandhiHopeOfIndia
#INDIAAlliance #विपक्षी_दल
#राहुल_गांधी #कांग्रेस #इंडिया
#राजनीति #सियासत #चुनावप्रचार
#जनता #मजदूर #गरीब #किसान
#छात्र #बेरोजगार #अवाम #श्रमिक

Language: Hindi
Tag: गीत
44 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"हैसियत"
Dr. Kishan tandon kranti
-जीना यूं
-जीना यूं
Seema gupta,Alwar
ग़ज़ल/नज़्म - मुझे दुश्मनों की गलियों में रहना पसन्द आता है
ग़ज़ल/नज़्म - मुझे दुश्मनों की गलियों में रहना पसन्द आता है
अनिल कुमार
इसके सिवा क्या तुमसे कहे
इसके सिवा क्या तुमसे कहे
gurudeenverma198
❤️सिर्फ़ तुझे ही पाया है❤️
❤️सिर्फ़ तुझे ही पाया है❤️
Srishty Bansal
नफ़रत के सौदागर
नफ़रत के सौदागर
Shekhar Chandra Mitra
Sometimes you have to
Sometimes you have to
Prachi Verma
छोटा परिवार( घनाक्षरी )
छोटा परिवार( घनाक्षरी )
Ravi Prakash
कोरोना का रोना! / MUSAFIR BAITHA
कोरोना का रोना! / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
जब बहुत कुछ होता है कहने को
जब बहुत कुछ होता है कहने को
पूर्वार्थ
मनमर्जी की जिंदगी,
मनमर्जी की जिंदगी,
sushil sarna
#ग़ज़ल-
#ग़ज़ल-
*Author प्रणय प्रभात*
सवेदना
सवेदना
Harminder Kaur
उजियारी ऋतुओं में भरती
उजियारी ऋतुओं में भरती
Rashmi Sanjay
14) “जीवन में योग”
14) “जीवन में योग”
Sapna Arora
दो शे'र - चार मिसरे
दो शे'र - चार मिसरे
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
नाम:- प्रतिभा पाण्डेय
नाम:- प्रतिभा पाण्डेय "प्रति"
Pratibha Pandey
******* प्रेम और दोस्ती *******
******* प्रेम और दोस्ती *******
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
ओ पथिक तू कहां चला ?
ओ पथिक तू कहां चला ?
Taj Mohammad
हमसफ़र
हमसफ़र
अखिलेश 'अखिल'
मंद मंद बहती हवा
मंद मंद बहती हवा
Soni Gupta
प्रथम गुरु
प्रथम गुरु
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
LK99 सुपरकंडक्टर की क्षमता का आकलन एवं इसके शून्य प्रतिरोध गुण के लाभकारी अनुप्रयोगों की विवेचना
LK99 सुपरकंडक्टर की क्षमता का आकलन एवं इसके शून्य प्रतिरोध गुण के लाभकारी अनुप्रयोगों की विवेचना
Shyam Sundar Subramanian
फ़ब्तियां
फ़ब्तियां
Shivkumar Bilagrami
वनिता
वनिता
Satish Srijan
सोने के भाव बिके बैंगन
सोने के भाव बिके बैंगन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ठहर जा, एक पल ठहर, उठ नहीं अपघात कर।
ठहर जा, एक पल ठहर, उठ नहीं अपघात कर।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
नव वर्ष आया हैं , सुख-समृद्धि लाया हैं
नव वर्ष आया हैं , सुख-समृद्धि लाया हैं
Raju Gajbhiye
नजरिया रिश्तों का
नजरिया रिश्तों का
विजय कुमार अग्रवाल
2814. *पूर्णिका*
2814. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
Loading...