Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 May 2023 · 1 min read

“मुग़ालतों के मुकुट”

“मुग़ालतों के मुकुट”
सिर पर सजाने के लिए
नहीं होते हुजूर…!!

☺️प्रणय प्रभात☺️

1 Like · 296 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
रामजी कर देना उपकार
रामजी कर देना उपकार
Seema gupta,Alwar
कामयाबी का जाम।
कामयाबी का जाम।
Rj Anand Prajapati
कैलेंडर नया पुराना
कैलेंडर नया पुराना
Dr MusafiR BaithA
पृथ्वी
पृथ्वी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
तोड़ कर खुद को
तोड़ कर खुद को
Dr fauzia Naseem shad
किस कदर
किस कदर
हिमांशु Kulshrestha
आया तीजो का त्यौहार
आया तीजो का त्यौहार
Ram Krishan Rastogi
मन में रख विश्वास,
मन में रख विश्वास,
Anant Yadav
किसी ने चोट खाई, कोई टूटा, कोई बिखर गया
किसी ने चोट खाई, कोई टूटा, कोई बिखर गया
Manoj Mahato
मुझे आरज़ू नहीं मशहूर होने की
मुझे आरज़ू नहीं मशहूर होने की
Indu Singh
The thing which is there is not wanted
The thing which is there is not wanted
कवि दीपक बवेजा
अभी ना करो कोई बात मुहब्बत की
अभी ना करो कोई बात मुहब्बत की
shabina. Naaz
ध्यान सारा लगा था सफर की तरफ़
ध्यान सारा लगा था सफर की तरफ़
अरशद रसूल बदायूंनी
"गरीबों की दिवाली"
Yogendra Chaturwedi
" कातिल "
Dr. Kishan tandon kranti
मर्यादा, संघर्ष और ईमानदारी,
मर्यादा, संघर्ष और ईमानदारी,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
किसी अंधेरी कोठरी में बैठा वो एक ब्रम्हराक्षस जो जानता है सब
किसी अंधेरी कोठरी में बैठा वो एक ब्रम्हराक्षस जो जानता है सब
Utkarsh Dubey “Kokil”
किसी बच्चे की हँसी देखकर
किसी बच्चे की हँसी देखकर
ruby kumari
इल्म
इल्म
Bodhisatva kastooriya
महोब्बत करो तो सावले रंग से करना गुरु
महोब्बत करो तो सावले रंग से करना गुरु
शेखर सिंह
सिंदूर विवाह का प्रतीक हो सकता है
सिंदूर विवाह का प्रतीक हो सकता है
पूर्वार्थ
** हद हो गई  तेरे इंकार की **
** हद हो गई तेरे इंकार की **
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
3036.*पूर्णिका*
3036.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
■ संपर्क_सूत्रम
■ संपर्क_सूत्रम
*प्रणय प्रभात*
यह नफरत बुरी है ना पालो इसे
यह नफरत बुरी है ना पालो इसे
VINOD CHAUHAN
मुस्कुराते रहे
मुस्कुराते रहे
Dr. Sunita Singh
*रिश्ते भैया दूज के, सबसे अधिक पवित्र (कुंडलिया)*
*रिश्ते भैया दूज के, सबसे अधिक पवित्र (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
कहीं फूलों की बारिश है कहीं पत्थर बरसते हैं
कहीं फूलों की बारिश है कहीं पत्थर बरसते हैं
Phool gufran
♥️♥️ Dr. Arun Kumar shastri
♥️♥️ Dr. Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रोशनी का पेड़
रोशनी का पेड़
Kshma Urmila
Loading...