Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 24, 2016 · 1 min read

साहस

उम्मीद की किरण टिमटिमाती थी टूटे सितारे में
बेचारी बन न जीना चाहती, ज़िन्दगी उधारे में
हौसलों के सोपान से चढ़ी छूने को वो आकाश
पग को ही कर बना डाला,जिंदगी जी न गुज़ारे में

205 Views
You may also like:
पेड़ - बाल कविता
Kanchan Khanna
नहीं चाहता
सिद्धार्थ गोरखपुरी
*कथावाचक श्री राजेंद्र प्रसाद पांडेय 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
Rainbow in the sky 🌈
Buddha Prakash
भगवान परशुराम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"पिता"
Dr. Alpa H. Amin
तुम्हीं तो हो ,तुम्हीं हो
Dr.sima
यह तो वक्ती हस्ती है।
Taj Mohammad
✍️अपना ही सवाल✍️
"अशांत" शेखर
ये दिल टूटा है।
Taj Mohammad
थिरक उठें जन जन,
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सही दिशा में
Ratan Kirtaniya
प्रात का निर्मल पहर है
मनोज कर्ण
'मेरी यादों में अब तक वे लम्हे बसे'
Rashmi Sanjay
पिता है मेरे रगो के अंदर।
Taj Mohammad
मजदूर.....
Chandra Prakash Patel
दिल मुझसे लगाकर,औरों से लगाया न करो
Ram Krishan Rastogi
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:37
AJAY AMITABH SUMAN
मुझे धोखेबाज न बनाना।
Anamika Singh
छोटा-सा परिवार
श्री रमण
कलम
Dr Meenu Poonia
महफिल में छा गई।
Taj Mohammad
【22】 तपती धरती करे पुकार
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
प्यारा भारत
AMRESH KUMAR VERMA
पापा आपकी बहुत याद आती है !
Kuldeep mishra (KD)
🌺🌺प्रेम की राह पर-41🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
!!! राम कथा काव्य !!!
जगदीश लववंशी
वेदना के अमर कवि श्री बहोरन सिंह वर्मा प्रवासी*
Ravi Prakash
अंजान बन जाते हैं।
Taj Mohammad
दिल का करार।
Taj Mohammad
Loading...