Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jun 2016 · 1 min read

उड़ान

पवन मेरी सीढ़ी बने, वितान पर हो इक मकान
रवि से बाते करूँ, शशि तारे हों मेरे मेहमान
बादलों के पोत चढूँ और नक्षत्रों पर विचरूँ
शोध कर उतरूं पृथ्वी पर, एकत्र कर महाज्ञान

Language: Hindi
331 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Sharda Madra
View all
You may also like:
महबूबा
महबूबा
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
*
*"मजदूर की दो जून रोटी"*
Shashi kala vyas
*इस वसंत में मौन तोड़कर, आओ मन से गीत लिखें (गीत)*
*इस वसंत में मौन तोड़कर, आओ मन से गीत लिखें (गीत)*
Ravi Prakash
तुम इतना सिला देना।
तुम इतना सिला देना।
Taj Mohammad
यहाँ किसे , किसका ,कितना भला चाहिए ?
यहाँ किसे , किसका ,कितना भला चाहिए ?
_सुलेखा.
रिश्तों में वक्त
रिश्तों में वक्त
पूर्वार्थ
धोखा
धोखा
Sanjay ' शून्य'
"झूठी है मुस्कान"
Pushpraj Anant
परिचय- राजीव नामदेव राना लिधौरी
परिचय- राजीव नामदेव राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जो पड़ते हैं प्रेम में...
जो पड़ते हैं प्रेम में...
लक्ष्मी सिंह
चुनावी जुमला
चुनावी जुमला
Shekhar Chandra Mitra
Rap song (1)
Rap song (1)
Nishant prakhar
■ उल्लू छाप...बिचारे
■ उल्लू छाप...बिचारे
*Author प्रणय प्रभात*
शे’र/ MUSAFIR BAITHA
शे’र/ MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
राम राम राम
राम राम राम
Satyaveer vaishnav
!! मेरी विवशता !!
!! मेरी विवशता !!
Akash Yadav
दोहा त्रयी. . . शीत
दोहा त्रयी. . . शीत
sushil sarna
मृत्यु के बाद भी मिर्ज़ा ग़ालिब लोकप्रिय हैं
मृत्यु के बाद भी मिर्ज़ा ग़ालिब लोकप्रिय हैं
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
खून-पसीने के ईंधन से, खुद का यान चलाऊंगा,
खून-पसीने के ईंधन से, खुद का यान चलाऊंगा,
डॉ. अनिल 'अज्ञात'
“अकेला”
“अकेला”
DrLakshman Jha Parimal
🌱कर्तव्य बोध🌱
🌱कर्तव्य बोध🌱
सुरेश अजगल्ले"इंद्र"
रक्षाबंधन का त्यौहार
रक्षाबंधन का त्यौहार
Ram Krishan Rastogi
हर एक मंजिल का अपना कहर निकला
हर एक मंजिल का अपना कहर निकला
कवि दीपक बवेजा
महोब्बत का खेल
महोब्बत का खेल
Anil chobisa
Kagaj ke chand tukado ko , maine apna alfaj bana liya .
Kagaj ke chand tukado ko , maine apna alfaj bana liya .
Sakshi Tripathi
वो एक लम्हा
वो एक लम्हा
Dr fauzia Naseem shad
पहले कविता जीती है
पहले कविता जीती है
Niki pushkar
"सपने"
Dr. Kishan tandon kranti
51-   प्रलय में भी…
51- प्रलय में भी…
Rambali Mishra
मंगल दीप जलाओ रे
मंगल दीप जलाओ रे
नेताम आर सी
Loading...