Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Feb 2017 · 1 min read

मुक्तक

तेरे बिना छायी हुई हरतरफ उदासी है!
तेरे बिना अब भी मेरी जिन्दगी प्यासी है!
उम्र थक रही है मेरी मंजिल की तलाश में,
तेरे बिना ठहरी हुयी हर खुशी जरा सी है!

#महादेव_की_कविताऐं'(26)

Language: Hindi
187 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
यूनिवर्सल सिविल कोड
यूनिवर्सल सिविल कोड
Dr. Harvinder Singh Bakshi
एक बछड़े को देखकर
एक बछड़े को देखकर
Punam Pande
चुनाव 2024
चुनाव 2024
Bodhisatva kastooriya
💐प्रेम कौतुक-294💐
💐प्रेम कौतुक-294💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मंजिल का आखरी मुकाम आएगा
मंजिल का आखरी मुकाम आएगा
कवि दीपक बवेजा
प्रहरी नित जागता है
प्रहरी नित जागता है
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
21वीं सदी और भारतीय युवा
21वीं सदी और भारतीय युवा
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
ہر طرف رنج ہے، آلام ہے، تنہائی ہے
ہر طرف رنج ہے، آلام ہے، تنہائی ہے
अरशद रसूल बदायूंनी
ढोंगी बाबा
ढोंगी बाबा
Kanchan Khanna
ग़ज़ल
ग़ज़ल
प्रदीप माहिर
पढ़े साहित्य, रचें साहित्य
पढ़े साहित्य, रचें साहित्य
संजय कुमार संजू
#शुभ_दीपोत्सव
#शुभ_दीपोत्सव
*Author प्रणय प्रभात*
बीज और बच्चे
बीज और बच्चे
Manu Vashistha
विषधर
विषधर
आनन्द मिश्र
*गोरे से काले हुए, रोगों का अहसान (दोहे)*
*गोरे से काले हुए, रोगों का अहसान (दोहे)*
Ravi Prakash
स्वयं का बैरी
स्वयं का बैरी
Dr fauzia Naseem shad
"संविधान"
Slok maurya "umang"
सिर्फ बेटियां ही नहीं बेटे भी घर छोड़ जाते है😥😥
सिर्फ बेटियां ही नहीं बेटे भी घर छोड़ जाते है😥😥
पूर्वार्थ
मीठी जलेबी
मीठी जलेबी
rekha mohan
नींद आती है......
नींद आती है......
Kavita Chouhan
कदम चुप चाप से आगे बढ़ते जाते है
कदम चुप चाप से आगे बढ़ते जाते है
Dr.Priya Soni Khare
हम कहाँ से कहाँ आ गए हैं। पहले के समय में आयु में बड़ों का स
हम कहाँ से कहाँ आ गए हैं। पहले के समय में आयु में बड़ों का स
ख़ान इशरत परवेज़
🌙Chaand Aur Main✨
🌙Chaand Aur Main✨
Srishty Bansal
ना सातवें आसमान तक
ना सातवें आसमान तक
Vivek Mishra
नरसिंह अवतार
नरसिंह अवतार
Shashi kala vyas
2804. *पूर्णिका*
2804. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
"अन्दाज"
Dr. Kishan tandon kranti
"ख़ामोशी"
Pushpraj Anant
यदि तुमने किसी लड़की से कहीं ज्यादा अपने लक्ष्य से प्यार किय
यदि तुमने किसी लड़की से कहीं ज्यादा अपने लक्ष्य से प्यार किय
Rj Anand Prajapati
Loading...