Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Jun 2016 · 1 min read

मुक्तक :– तेरे पायल की छन्कार मुझको यहाँ बुलाती है !!

मुक्तक :– तेरे पायल की छन्कार मुझको यहाँ बुलाती है !!

मै जब उदास हो जाता हूँ ,तनहाई तडफाती है !
तेरे पायल की छनकार ,मुझको यहाँ बुलाती है !
इन बागों इन गलियों मे , तेरे साये मीठी यादों के ,
यहाँ सावन की बौछार , मुझको बहुत रुलाती है !!

Language: Hindi
1 Like · 1 Comment · 792 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
Perceive Exams as a festival
Perceive Exams as a festival
Tushar Jagawat
Bhagwan sabki sunte hai...
Bhagwan sabki sunte hai...
Vandana maurya
पिता
पिता
Sanjay ' शून्य'
गुलाम
गुलाम
Punam Pande
दोहे- माँ है सकल जहान
दोहे- माँ है सकल जहान
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
एक शे'र
एक शे'र
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
मैं अपने बिस्तर पर
मैं अपने बिस्तर पर
Shweta Soni
बीज
बीज
Dr.Priya Soni Khare
మంత్రాలయము మహా పుణ్య క్షేత్రము
మంత్రాలయము మహా పుణ్య క్షేత్రము
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
एक ख़त रूठी मोहब्बत के नाम
एक ख़त रूठी मोहब्बत के नाम
अजहर अली (An Explorer of Life)
सर-ए-बाजार पीते हो...
सर-ए-बाजार पीते हो...
आकाश महेशपुरी
विश्व की पांचवीं बडी अर्थव्यवस्था
विश्व की पांचवीं बडी अर्थव्यवस्था
Mahender Singh
कहाँ-कहाँ नहीं ढूंढ़ा तुमको
कहाँ-कहाँ नहीं ढूंढ़ा तुमको
Ranjana Verma
किस हक से जिंदा हुई
किस हक से जिंदा हुई
कवि दीपक बवेजा
"विचित्र संसार"
Dr. Kishan tandon kranti
भीम षोडशी
भीम षोडशी
SHAILESH MOHAN
कुछ हाथ भी ना आया
कुछ हाथ भी ना आया
Dalveer Singh
हालात ए वक्त से
हालात ए वक्त से
Dr fauzia Naseem shad
उड़ चल रे परिंदे....
उड़ चल रे परिंदे....
जगदीश लववंशी
ज़हन खामोश होकर भी नदारत करता रहता है।
ज़हन खामोश होकर भी नदारत करता रहता है।
Phool gufran
ख़ास तो बहुत थे हम भी उसके लिए...
ख़ास तो बहुत थे हम भी उसके लिए...
Dr Manju Saini
जितना खुश होते है
जितना खुश होते है
Vishal babu (vishu)
" मुझमें फिर से बहार न आयेगी "
Aarti sirsat
-- अंतिम यात्रा --
-- अंतिम यात्रा --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
*सत्पथ पर सबको चलने की, दिशा बतातीं अम्मा जी🍃🍃🍃 (श्रीमती उषा
*सत्पथ पर सबको चलने की, दिशा बतातीं अम्मा जी🍃🍃🍃 (श्रीमती उषा
Ravi Prakash
■ बे-मन की बात।।
■ बे-मन की बात।।
*Author प्रणय प्रभात*
" जलचर प्राणी "
Dr Meenu Poonia
Hajipur
Hajipur
Hajipur
शिक्षार्थी को एक संदेश🕊️🙏
शिक्षार्थी को एक संदेश🕊️🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
पति मेरा मेरी जिंदगी का हमसफ़र है
पति मेरा मेरी जिंदगी का हमसफ़र है
VINOD CHAUHAN
Loading...