Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Oct 2023 · 1 min read

” मानस मायूस “

” मानस मायूस ”
त्योहारों की रौनक पड़ गई फीकी
सजने संवरने का वो अंदाज खोया
गली मोहल्लों की चकाचौंध काली
ना ही चाव करते आज वो बच्चे रहे,
बचपन में फूलों वाली कोमलता नहीं
करने लगे हैं बड़ों का सा ही व्यवहार
बधाई और गम भी तो डिजिटल बने
ना ही भावनाओं में परिवारजन बहें,
फेसबुक, इंस्टाग्राम की बहार है छाई
मेरे प्यारे देशवासियों का टैग लगाते
देखा देखी से बढ़ गई है सबकी पहुंच
ना ही कोई आजकल टोरा फोरी सहे,
बढ़ने लगी है आज सबकी जानकारी
मोबाईल पर काम फट से निपटा लेते
आम आदमी बनकर कोई नहीं रहता
हर कोई खुद को आदमी खास कहे।

Language: Hindi
1 Like · 101 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr Meenu Poonia
View all
You may also like:
जगदाधार सत्य
जगदाधार सत्य
महेश चन्द्र त्रिपाठी
*हमारा संविधान*
*हमारा संविधान*
Dushyant Kumar
आशार
आशार
Bodhisatva kastooriya
2574.पूर्णिका
2574.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
कोरे कागज़ पर
कोरे कागज़ पर
हिमांशु Kulshrestha
राम सिया की होली देख, अवध में हनुमंत लगे हर्षांने।
राम सिया की होली देख, अवध में हनुमंत लगे हर्षांने।
राकेश चौरसिया
अंधा इश्क
अंधा इश्क
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
इश्क में हमको नहीं, वो रास आते हैं।
इश्क में हमको नहीं, वो रास आते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
*जब से मुझे पता चला है कि*
*जब से मुझे पता चला है कि*
Manoj Kushwaha PS
दोगलापन
दोगलापन
Mamta Singh Devaa
Armano me sajaya rakha jisse,
Armano me sajaya rakha jisse,
Sakshi Tripathi
[28/03, 17:02] Dr.Rambali Mishra: *पाप का घड़ा फूटता है (दोह
[28/03, 17:02] Dr.Rambali Mishra: *पाप का घड़ा फूटता है (दोह
Rambali Mishra
घर के राजदुलारे युवा।
घर के राजदुलारे युवा।
Kuldeep mishra (KD)
हों जो तुम्हे पसंद वही बात कहेंगे।
हों जो तुम्हे पसंद वही बात कहेंगे।
Rj Anand Prajapati
World Emoji Day
World Emoji Day
Tushar Jagawat
बहू और बेटी
बहू और बेटी
Mukesh Kumar Sonkar
आपके आसपास
आपके आसपास
Dr.Rashmi Mishra
अच्छाई बाहर नहीं अन्दर ढूंढो, सुन्दरता कपड़ों में नहीं व्यवह
अच्छाई बाहर नहीं अन्दर ढूंढो, सुन्दरता कपड़ों में नहीं व्यवह
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
कविता: जर्जर विद्यालय भवन की पीड़ा
कविता: जर्जर विद्यालय भवन की पीड़ा
Rajesh Kumar Arjun
■ #NETA को नहीं तो #NOTA को सही। अपना #VOTE ज़रूर दें।।
■ #NETA को नहीं तो #NOTA को सही। अपना #VOTE ज़रूर दें।।
*Author प्रणय प्रभात*
* ज़ालिम सनम *
* ज़ालिम सनम *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हॉं और ना
हॉं और ना
Dr. Kishan tandon kranti
लघुकथा- धर्म बचा लिया।
लघुकथा- धर्म बचा लिया।
Dr Tabassum Jahan
शराबी
शराबी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
खोखली बुनियाद
खोखली बुनियाद
Shekhar Chandra Mitra
निरंतर खूब चलना है
निरंतर खूब चलना है
surenderpal vaidya
तू है तसुव्वर में तो ए खुदा !
तू है तसुव्वर में तो ए खुदा !
ओनिका सेतिया 'अनु '
हसरतों के गांव में
हसरतों के गांव में
Harminder Kaur
कहां ज़िंदगी का
कहां ज़िंदगी का
Dr fauzia Naseem shad
एक शेर
एक शेर
Ravi Prakash
Loading...