Sep 6, 2016 · 1 min read

माता से बढ़कर नही गुरूवर कोई होय

जन्माष्टमी
**********
सलोने लाल को कान्हा जैसा मैंने बनाया है
उन्हीं की रूप सज़्ज़ा से उसे मैंने सजाया है
खिलाया हाथ से अपने बहुत ही प्यार से माखन
यशोदा देवकी से कम नहीं तब खुद को पाया है

डॉ अर्चना गुप्ता
शिक्षक दिवस
*************
माता से बढ़कर नही गुरूवर कोई होय
गुरु का मान करें सदा, संस्कार वो बोय ।
बचपन में जिसको मिले माँ से अच्छी सीख
उसको फिर संसार में हरा सके कब कोय

डॉ अर्चना गुप्ता
मुरादाबाद(उ प्र)

2 Comments · 135 Views
You may also like:
मैं भारत हूँ
Dr. Sunita Singh
नीति के दोहे
Rakesh Pathak Kathara
सौ प्रतिशत
Dr Archana Gupta
Born again with love...
Abhineet Mittal
पापा को मैं पास में पाऊँ
Dr. Pratibha Mahi
🌺🌺दोषदृष्टया: साधके प्रभावः🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मां तो मां होती है ( मातृ दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
विरह की पीड़ा जब लगी मुझे सताने
Ram Krishan Rastogi
*हास्य-रस के पर्याय हुल्लड़ मुरादाबादी के काव्य में व्यंग्यात्मक चेतना*
Ravi Prakash
# मां ...
Chinta netam मन
जीवन एक कारखाना है /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
तुम जो मिल गई हो।
Taj Mohammad
सेक्लुरिजम का पाठ
Anamika Singh
बच्चों के पिता
Dr. Kishan Karigar
मेरे दिल का दर्द
Ram Krishan Rastogi
जी हाँ, मैं
gurudeenverma198
हमारे जीवन में "पिता" का साया
इंजी. लोकेश शर्मा (लेखक)
कहने से
Rakesh Pathak Kathara
बदल कर टोपियां अपनी, कहीं भी पहुंच जाते हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
【34】*!!* आग दबाये मत रखिये *!!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कवि का परिचय( पं बृजेश कुमार नायक का परिचय)
Pt. Brajesh Kumar Nayak
छद्म राष्ट्रवाद की पहचान
Mahender Singh Hans
All I want to say is good bye...
Abhineet Mittal
सारी फिज़ाएं छुप सी गई हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
जादूगर......
Vaishnavi Gupta
माँ की परिभाषा मैं दूँ कैसे?
Jyoti Khari
* बेकस मौजू *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग२]
Anamika Singh
केंचुआ
Buddha Prakash
मम्मी म़ुझको दुलरा जाओ..
Rashmi Sanjay
Loading...