Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Feb 2022 · 1 min read

माँ की ‘आश’

हैं कितना दर्द भरा…
नहि हैं.. घरमें दाना पानी,
कचरे के ढेरमें.. ‘वो’ खोज रही हैं रोटी ।।

Language: Hindi
Tag: शेर
1 Like · 2 Comments · 443 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
भुलक्कड़ मामा
भुलक्कड़ मामा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
क्षणिका
क्षणिका
sushil sarna
करते बर्बादी दिखे , भोजन की हर रोज (कुंडलिया)
करते बर्बादी दिखे , भोजन की हर रोज (कुंडलिया)
Ravi Prakash
कश्मीरी पण्डितों की रक्षा में कुर्बान हुए गुरु तेगबहादुर
कश्मीरी पण्डितों की रक्षा में कुर्बान हुए गुरु तेगबहादुर
कवि रमेशराज
मुक्कमल कहां हुआ तेरा अफसाना
मुक्कमल कहां हुआ तेरा अफसाना
Seema gupta,Alwar
मृत्युभोज
मृत्युभोज
अशोक कुमार ढोरिया
मेरी बेटी
मेरी बेटी
लक्ष्मी सिंह
मुझे मुझसे हीं अब मांगती है, गुजरे लम्हों की रुसवाईयाँ।
मुझे मुझसे हीं अब मांगती है, गुजरे लम्हों की रुसवाईयाँ।
Manisha Manjari
Don't Be Judgemental...!!
Don't Be Judgemental...!!
Ravi Betulwala
शीतलहर
शीतलहर
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
वो तुम्हीं तो हो
वो तुम्हीं तो हो
Dr fauzia Naseem shad
क्षमा अपनापन करुणा।।
क्षमा अपनापन करुणा।।
Kaushal Kishor Bhatt
मैं अपनी खूबसूरत दुनिया में
मैं अपनी खूबसूरत दुनिया में
ruby kumari
ना धर्म पर ना जात पर,
ना धर्म पर ना जात पर,
Gouri tiwari
“दुमका संस्मरण 3” ट्रांसपोर्ट सेवा (1965)
“दुमका संस्मरण 3” ट्रांसपोर्ट सेवा (1965)
DrLakshman Jha Parimal
शहीदों के लिए (कविता)
शहीदों के लिए (कविता)
गुमनाम 'बाबा'
मुकद्दर तेरा मेरा एक जैसा क्यों लगता है
मुकद्दर तेरा मेरा एक जैसा क्यों लगता है
VINOD CHAUHAN
Exam Stress
Exam Stress
Tushar Jagawat
"समझ का फेर"
Dr. Kishan tandon kranti
सोन चिरैया
सोन चिरैया
Mukta Rashmi
■क्षणिका■
■क्षणिका■
*प्रणय प्रभात*
कुछ लोग बहुत पास थे,अच्छे नहीं लगे,,
कुछ लोग बहुत पास थे,अच्छे नहीं लगे,,
Shweta Soni
जिंदगी की राह में हर कोई,
जिंदगी की राह में हर कोई,
Yogendra Chaturwedi
लोभ मोह ईष्या 🙏
लोभ मोह ईष्या 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
“Mistake”
“Mistake”
पूर्वार्थ
दोहा-विद्यालय
दोहा-विद्यालय
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
गाँव कुछ बीमार सा अब लग रहा है
गाँव कुछ बीमार सा अब लग रहा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
सूर्यदेव
सूर्यदेव
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
अक्ल का अंधा - सूरत सीरत
अक्ल का अंधा - सूरत सीरत
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मेरी किस्मत
मेरी किस्मत
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
Loading...