Oct 18, 2016 · 1 min read

माँ का हीरो****

पढ़ ले बेटा पढ़ ले
कुछ कर ले
काम आयेगा
नहीं तो रह जायेगा
जीरो
मास्टर जी के गूंजते
ये शब्द….
सच में रुला देते थे
भारी कदमो से लौटते
स्कूल से घर,
दस में से दो या तीन
मिले नम्बर के साथ
ऊपर से बाप की डांट-
फटकार,
माँ का बचाना-सहलाना और
दुलार,
सच में हिम्मत देती थी
उसका कहना कौन कहता है
तुझको जीरो,
तू तो है मेरा हीरो
सुनकर ये फुल जाता था
ख़ुशी से सिना,
बुरी नजर से बचाता था
माँ का लगाया काला टिका
जो आज भी बचा रहा है
बुरी नजर से
माँ की दी दुआएँ के साथ,
काला टिका*
कुछ भी हो था तो अपनी माँ का
हीरो*

*****दिनेश शर्मा*****

1 Like · 2 Comments · 420 Views
You may also like:
और कितना धैर्य धरू
Anamika Singh
*तजकिरातुल वाकियात* (पुस्तक समीक्षा )
Ravi Prakash
💐💐प्रेम की राह पर-18💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चंदा मामा बाल कविता
Ram Krishan Rastogi
सच
Vikas Sharma'Shivaaya'
सेमल के वृक्ष...!
मनोज कर्ण
पत्ते ने अगर अपना रंग न बदला होता
Dr. Alpa H.
कन्या रूपी माँ अम्बे
Kanchan Khanna
"निरक्षर-भारती"
Prabhudayal Raniwal
!!! राम कथा काव्य !!!
जगदीश लववंशी
कौन किसके बिन अधूरा है
Ram Krishan Rastogi
हर एक रिश्ता निभाता पिता है –गीतिका
रकमिश सुल्तानपुरी
मै पैसा हूं दोस्तो मेरे रूप बने है अनेक
Ram Krishan Rastogi
* प्रेमी की वेदना *
Dr. Alpa H.
"मैं तुम्हारा रहा"
Lohit Tamta
💐💐प्रेम की राह पर-11💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
साल गिरह
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
Waqt
ananya rai parashar
पुस्तक की पीड़ा
सूर्यकांत द्विवेदी
विदाई की घड़ी आ गई है,,,
Taj Mohammad
ये चिड़िया
Anamika Singh
अक्षय तृतीया
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ज़िन्दगी की धूप...
Dr. Alpa H.
एक हम ही है गलत।
Taj Mohammad
उफ ! ये गर्मी, हाय ! गर्मी / (गर्मी का...
ईश्वर दयाल गोस्वामी
दादी मां बहुत याद आई
VINOD KUMAR CHAUHAN
पुस्तक समीक्षा- बुंदेलखंड के आधुनिक युग
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
* बेकस मौजू *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सृजन कर्ता है पिता।
Taj Mohammad
कलयुग का आरम्भ है।
Taj Mohammad
Loading...