Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Jan 2023 · 1 min read

!!महात्मा!!

महात्मा बुद्ध, विदुर महात्मा
वेदव्यास, कालिदास महात्मा
नवदुर्गा का संदेश समझकर
लक्ष्मीबाई हुई महात्मा ।
आर्यभट्ट का शोध,
पतंजलि का योग महात्मा
कपिल मुनि का तप देख,
भागीरथ हुए महात्मा ।
राम महात्मा मर्यादा से
कृष्ण महात्मा गीता से
महात्म्य सीखो सब नारी
पति पारायण सीता से ।
चंद्रशेखर, भगत, बिस्मिल
त्याग बलिदान से हुए महात्मा
अपमानित अनुभव करने से
गांधी जी हुए महात्मा ।
सद्गुण का सृजन महात्मा
जप राम नाम वाल्मीकि महात्मा
आत्मज्ञान का बोध हुआ तब,
रविदास जी हुए महात्मा ।
गुरु की आज्ञा शिरोधार्य कर
विवेकानंद महात्मा, जब हुए नरेंद्र
फैला ज्ञान का चतुर्दिक प्रकाश
सब देवों सहित खुश हुए देवेंद्र ।
राम सा पति ,श्रवण सा पुत्र
कृष्ण सखा सा, कर्ण सा मित्र
ऐसी इच्छा रखे,उसे आत्मा कहते हैं
सद्गुण का जो दान करे,उसे महात्मा कहते हैं ।

Language: Hindi
174 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सहयोग आधारित संकलन
सहयोग आधारित संकलन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
तू मेरी मैं तेरा, इश्क है बड़ा सुनहरा
तू मेरी मैं तेरा, इश्क है बड़ा सुनहरा
SUNIL kumar
धरातल की दशा से मुंह मोड़
धरातल की दशा से मुंह मोड़
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
परिणय प्रनय
परिणय प्रनय
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
*** आकांक्षा : आसमान की उड़ान..! ***
*** आकांक्षा : आसमान की उड़ान..! ***
VEDANTA PATEL
महफिल में तनहा जले,
महफिल में तनहा जले,
sushil sarna
2476.पूर्णिका
2476.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
புறப்பாடு
புறப்பாடு
Shyam Sundar Subramanian
जीने की तमन्ना में
जीने की तमन्ना में
Satish Srijan
अयोध्या धाम
अयोध्या धाम
Mukesh Kumar Sonkar
सच समाज में प्रवासी है
सच समाज में प्रवासी है
Dr MusafiR BaithA
तेरा साथ है तो मुझे क्या कमी है
तेरा साथ है तो मुझे क्या कमी है
DR ARUN KUMAR SHASTRI
काव्य की आत्मा और सात्विक बुद्धि +रमेशराज
काव्य की आत्मा और सात्विक बुद्धि +रमेशराज
कवि रमेशराज
देख भाई, ये जिंदगी भी एक न एक दिन हमारा इम्तिहान लेती है ,
देख भाई, ये जिंदगी भी एक न एक दिन हमारा इम्तिहान लेती है ,
Dr. Man Mohan Krishna
*जीवन में खुश रहने की वजह ढूँढना तो वाजिब बात लगती है पर खोद
*जीवन में खुश रहने की वजह ढूँढना तो वाजिब बात लगती है पर खोद
Seema Verma
💐Prodigy Love-28💐
💐Prodigy Love-28💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मोरे मन-मंदिर....।
मोरे मन-मंदिर....।
Kanchan Khanna
संसार चलाएंगी बेटियां
संसार चलाएंगी बेटियां
Shekhar Chandra Mitra
हिन्दी दिवस
हिन्दी दिवस
Mahender Singh
*भरोसा हो तो*
*भरोसा हो तो*
नेताम आर सी
"सुन लो"
Dr. Kishan tandon kranti
If you ever need to choose between Love & Career
If you ever need to choose between Love & Career
पूर्वार्थ
अपना भी नहीं बनाया उसने और
अपना भी नहीं बनाया उसने और
कवि दीपक बवेजा
हम पचास के पार
हम पचास के पार
Sanjay Narayan
आप अपनी नज़र से
आप अपनी नज़र से
Dr fauzia Naseem shad
*हिम्मत जिंदगी की*
*हिम्मत जिंदगी की*
Naushaba Suriya
*आया पूरब से अरुण ,पिघला जैसे स्वर्ण (कुंडलिया)*
*आया पूरब से अरुण ,पिघला जैसे स्वर्ण (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
#भाई_दूज
#भाई_दूज
*Author प्रणय प्रभात*
मैं चाहता हूँ अब
मैं चाहता हूँ अब
gurudeenverma198
सावन
सावन
Ambika Garg *लाड़ो*
Loading...