Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Aug 2023 · 1 min read

महसूस करो दिल से

महसूस करो दिल से ,
बस रिश्ते की गहराई ।
कोई खून से जुड़ता है
कोई एहसास से जुड़ता है।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
8 Likes · 200 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
एक पेड़ ही तो है जो सभी प्राणियो को छाँव देता है,
एक पेड़ ही तो है जो सभी प्राणियो को छाँव देता है,
Shubham Pandey (S P)
भारतवर्ष स्वराष्ट्र पूर्ण भूमंडल का उजियारा है
भारतवर्ष स्वराष्ट्र पूर्ण भूमंडल का उजियारा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
फ़ितरत
फ़ितरत
Kavita Chouhan
माँ का घर
माँ का घर
Pratibha Pandey
उसे मलाल न हो
उसे मलाल न हो
Dr fauzia Naseem shad
पुस्तक समीक्षा- धूप के कतरे (ग़ज़ल संग्रह डॉ घनश्याम परिश्रमी नेपाल)
पुस्तक समीक्षा- धूप के कतरे (ग़ज़ल संग्रह डॉ घनश्याम परिश्रमी नेपाल)
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
।। सुविचार ।।
।। सुविचार ।।
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
सावन म वैशाख समा गे
सावन म वैशाख समा गे
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
जीवन दुखों से भरा है जीवन के सभी पक्षों में दुख के बीज सम्मि
जीवन दुखों से भरा है जीवन के सभी पक्षों में दुख के बीज सम्मि
Ms.Ankit Halke jha
मैंने  देखा  ख्वाब में  दूर  से  एक  चांद  निकलता  हुआ
मैंने देखा ख्वाब में दूर से एक चांद निकलता हुआ
shabina. Naaz
कवियों का अपना गम...
कवियों का अपना गम...
goutam shaw
पहला प्यार नहीं बदला...!!
पहला प्यार नहीं बदला...!!
Ravi Betulwala
*नमन सकल जग के स्वामी【हिंदी गजल/गीतिका】*
*नमन सकल जग के स्वामी【हिंदी गजल/गीतिका】*
Ravi Prakash
3018.*पूर्णिका*
3018.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मैं पीपल का पेड़
मैं पीपल का पेड़
VINOD CHAUHAN
कितने घर ख़ाक हो गये, तुमने
कितने घर ख़ाक हो गये, तुमने
Anis Shah
■ प्रणय_गीत:-
■ प्रणय_गीत:-
*Author प्रणय प्रभात*
कहां गए तुम
कहां गए तुम
Satish Srijan
किताबें भी बिल्कुल मेरी तरह हैं
किताबें भी बिल्कुल मेरी तरह हैं
Vivek Pandey
मुक्ति का दे दो दान
मुक्ति का दे दो दान
Samar babu
मंजिल
मंजिल
Dr. Pradeep Kumar Sharma
यहा हर इंसान दो चहरे लिए होता है,
यहा हर इंसान दो चहरे लिए होता है,
Happy sunshine Soni
आप और हम जीवन के सच
आप और हम जीवन के सच
Neeraj Agarwal
"मतदान"
Dr. Kishan tandon kranti
जब तुम हारने लग जाना,तो ध्यान करना कि,
जब तुम हारने लग जाना,तो ध्यान करना कि,
पूर्वार्थ
....नया मोड़
....नया मोड़
Naushaba Suriya
करना था यदि ऐसा तुम्हें मेरे संग में
करना था यदि ऐसा तुम्हें मेरे संग में
gurudeenverma198
इंसान को,
इंसान को,
नेताम आर सी
💐प्रेम कौतुक-563💐
💐प्रेम कौतुक-563💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अजीब शख्स था...
अजीब शख्स था...
हिमांशु Kulshrestha
Loading...