Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Feb 2024 · 1 min read

मर्द की कामयाबी के पीछे माँ के अलावा कोई दूसरी औरत नहीं होती

मर्द की कामयाबी के पीछे माँ के अलावा कोई दूसरी औरत नहीं होती, क्योंकि दूसरी औरत हमेशा एक कामयाब मर्द ढूँढती है।
संदीप ✍️

94 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मैंने रात को जागकर देखा है
मैंने रात को जागकर देखा है
शेखर सिंह
2740. *पूर्णिका*
2740. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
रंगमंच कलाकार तुलेंद्र यादव जीवन परिचय
रंगमंच कलाकार तुलेंद्र यादव जीवन परिचय
Tulendra Yadav
नफ़रत सहना भी आसान हैं.....⁠♡
नफ़रत सहना भी आसान हैं.....⁠♡
ओसमणी साहू 'ओश'
वक्त हालत कुछ भी ठीक नहीं है अभी।
वक्त हालत कुछ भी ठीक नहीं है अभी।
Manoj Mahato
*तुलसी तुम्हें प्रणाम : कुछ दोहे*
*तुलसी तुम्हें प्रणाम : कुछ दोहे*
Ravi Prakash
23-निकला जो काम फेंक दिया ख़ार की तरह
23-निकला जो काम फेंक दिया ख़ार की तरह
Ajay Kumar Vimal
अपनी सोच
अपनी सोच
Ravi Maurya
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
उड़ते हुए आँचल से दिखती हुई तेरी कमर को छुपाना चाहता हूं
उड़ते हुए आँचल से दिखती हुई तेरी कमर को छुपाना चाहता हूं
Vishal babu (vishu)
क्या मणिपुर बंगाल क्या, क्या ही राजस्थान ?
क्या मणिपुर बंगाल क्या, क्या ही राजस्थान ?
Arvind trivedi
चाहत बेहतर स्वास्थ्य की
चाहत बेहतर स्वास्थ्य की
Sunil Maheshwari
अतीत - “टाइम मशीन
अतीत - “टाइम मशीन"
Atul "Krishn"
ग़ज़ल कहूँ तो मैं ‘असद’, मुझमे बसते ‘मीर’
ग़ज़ल कहूँ तो मैं ‘असद’, मुझमे बसते ‘मीर’
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
चंद्रयान 3 ‘आओ मिलकर जश्न मनाएं’
चंद्रयान 3 ‘आओ मिलकर जश्न मनाएं’
Author Dr. Neeru Mohan
মানুষ হয়ে যাও !
মানুষ হয়ে যাও !
Ahtesham Ahmad
"लिहाज"
Dr. Kishan tandon kranti
पलटूराम में भी राम है
पलटूराम में भी राम है
Sanjay ' शून्य'
माँ
माँ
meena singh
तन्हाई को जश्न दे चुका,
तन्हाई को जश्न दे चुका,
goutam shaw
कुछ नही मिलता आसानी से,
कुछ नही मिलता आसानी से,
manjula chauhan
हमको गैरों का जब सहारा है।
हमको गैरों का जब सहारा है।
सत्य कुमार प्रेमी
विवेकवान मशीन
विवेकवान मशीन
Sandeep Pande
यदि कोई सास हो ललिता पवार जैसी,
यदि कोई सास हो ललिता पवार जैसी,
ओनिका सेतिया 'अनु '
🙅ख़ुद सोचो🙅
🙅ख़ुद सोचो🙅
*प्रणय प्रभात*
प्रश्रयस्थल
प्रश्रयस्थल
Bodhisatva kastooriya
नज़्म/गीत - वो मधुशाला, अब कहाँ
नज़्म/गीत - वो मधुशाला, अब कहाँ
अनिल कुमार
अतुल वरदान है हिंदी, सकल सम्मान है हिंदी।
अतुल वरदान है हिंदी, सकल सम्मान है हिंदी।
Neelam Sharma
चाय ही पी लेते हैं
चाय ही पी लेते हैं
Ghanshyam Poddar
बूथ लेवल अधिकारी(बीएलओ)
बूथ लेवल अधिकारी(बीएलओ)
gurudeenverma198
Loading...