Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Feb 2024 · 1 min read

मन मर्जी के गीत हैं,

मन मर्जी के गीत हैं,
मन मर्जी के छन्द ।
वेद पुराणों का भला,
कहाँ मिले मकरंद ।।

सुशील सरना / 23-2-24

1 Like · 64 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ममता
ममता
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मतदान
मतदान
Sanjay ' शून्य'
"अनमोल"
Dr. Kishan tandon kranti
*डॉ. विश्व अवतार जैमिनी की बाल कविताओं का सौंदर्य*
*डॉ. विश्व अवतार जैमिनी की बाल कविताओं का सौंदर्य*
Ravi Prakash
2305.पूर्णिका
2305.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
हाय री गरीबी कैसी मेरा घर  टूटा है
हाय री गरीबी कैसी मेरा घर टूटा है
कृष्णकांत गुर्जर
प्यार की कलियुगी परिभाषा
प्यार की कलियुगी परिभाषा
Mamta Singh Devaa
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
*ऐसा स्वदेश है मेरा*
*ऐसा स्वदेश है मेरा*
Harminder Kaur
क़ाबिल नहीं जो उनपे लुटाया न कीजिए
क़ाबिल नहीं जो उनपे लुटाया न कीजिए
Shweta Soni
अपने हुए पराए लाखों जीवन का यही खेल है
अपने हुए पराए लाखों जीवन का यही खेल है
प्रेमदास वसु सुरेखा
अगर गौर से विचार किया जाएगा तो यही पाया जाएगा कि इंसान से ज्
अगर गौर से विचार किया जाएगा तो यही पाया जाएगा कि इंसान से ज्
Seema Verma
*मैं* प्यार के सरोवर मे पतवार हो गया।
*मैं* प्यार के सरोवर मे पतवार हो गया।
Anil chobisa
डिजिटल भारत
डिजिटल भारत
Satish Srijan
फ़ितरत को ज़माने की, ये क्या हो गया है
फ़ितरत को ज़माने की, ये क्या हो गया है
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
"इन्तेहा" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
🙏*गुरु चरणों की धूल*🙏
🙏*गुरु चरणों की धूल*🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
कहती जो तू प्यार से
कहती जो तू प्यार से
The_dk_poetry
* इस धरा को *
* इस धरा को *
surenderpal vaidya
तेरी मेरी तस्वीर
तेरी मेरी तस्वीर
Neeraj Agarwal
#drarunkumarshastri
#drarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
#दोहा
#दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
प्रकृति
प्रकृति
Monika Verma
किसी एक के पीछे भागना यूं मुनासिब नहीं
किसी एक के पीछे भागना यूं मुनासिब नहीं
Dushyant Kumar Patel
बढ़ना होगा
बढ़ना होगा
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
Life is too short to admire,
Life is too short to admire,
Sakshi Tripathi
क्रांतिकारी किसी देश के लिए वह उत्साहित स्तंभ रहे है जिनके ज
क्रांतिकारी किसी देश के लिए वह उत्साहित स्तंभ रहे है जिनके ज
Rj Anand Prajapati
माँ मेरी
माँ मेरी
Dr fauzia Naseem shad
*फंदा-बूँद शब्द है, अर्थ है सागर*
*फंदा-बूँद शब्द है, अर्थ है सागर*
Poonam Matia
आग हूं... आग ही रहने दो।
आग हूं... आग ही रहने दो।
अनिल "आदर्श"
Loading...