Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Dec 2022 · 1 min read

*** ” मन बावरा है…!!! ” ***

* ” मन में , कुछ आस है…
मन में , न जाने क्यों…?
कुछ और अधिक प्यास है…!
हलचल सी झलक है कुछ…
मेरे मन की चाह में…?
आहट सी है कुछ….
कर्ण-पट की राह में…!
शोर सा है कुछ…
मन हृदय-आंगन में…!
कभी झीलमिलाती तस्वीरें कुछ…
नजर आती है अनजानी राह में…!
उकेरने की चाह में…
प्रतिबिंब बनाती मन-दर्पण की दीवार में…!
एक अमिट आकार की…
अथक प्रयास…!
अनेक रंग भरने की…
अगाध ललक कयास…!
बिन जाने कुछ…
बिन बुझे , कुछ उलझे से…;
चल पड़ा अनजाने राह में…! ”
अनजान राही है कुछ…
ये मन बावरा…!
न जाने फिर भी क्यों…
चल पड़ा मतवाला बन…!
क्या कुछ सोच…
पांव में लेकर कुछ घाव के मोच.. ;
ना समझ मन…!
पूछना चाहा….
और जानना भी चाहा….;
चलते हुए अनेक राहगीर से….
और अपनी तकदीर तनवीर से….!
फिर क्या…?
कुछ लोगों ने पागल समझा… ‌
कुछ ने अनाड़ी..;
और…
कुछ लोगों ने समझ लिया गंवार…!
मज़े की बात यह है कि…
मैंने जिन्हें समझ रखा था…
फुटबॉल.., हाॅकी.., टेनिस…
और क्रिकेट खिलाड़ी…;
पर…
वे सब भी थे….
एक अनजान रथ में सवार…!
लेकिन…
क्या करूँ दोस्तों…!
मन है बावरा कुछ…
लकीर का फकीर…!
खिलाड़ी बन हर खेल में…
लेकर हाथ में , कुछ अंजीर..!
संभावित हार-जीत की..
परिणामी मेल में…;
कोशिश यही है कि…
मैं भी बन जाऊँ…,
शतरंज की एक वज़ीर …!!
मैं भी बन जाऊँ…,
शतरंज की एक वज़ीर…!! ”

****************∆∆∆****************

* बी पी पटेल *
बिलासपुर ( छ.ग.)
१७ / १२ / २०२२

Language: Hindi
331 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
वह आवाज
वह आवाज
Otteri Selvakumar
तुम्हें लगता है, मैं धोखेबाज हूँ ।
तुम्हें लगता है, मैं धोखेबाज हूँ ।
Dr. Man Mohan Krishna
" सब किमे बदलग्या "
Dr Meenu Poonia
एक नज़र में
एक नज़र में
Dr fauzia Naseem shad
वो सब खुश नसीब है
वो सब खुश नसीब है
शिव प्रताप लोधी
राष्ट्रभाषा
राष्ट्रभाषा
Prakash Chandra
चंद्रयान तीन अंतरिक्ष पार
चंद्रयान तीन अंतरिक्ष पार
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
"औरत"
Dr. Kishan tandon kranti
मान देने से मान मिले, अपमान से मिले अपमान।
मान देने से मान मिले, अपमान से मिले अपमान।
पूर्वार्थ
बाल कहानी- अधूरा सपना
बाल कहानी- अधूरा सपना
SHAMA PARVEEN
ईश ......
ईश ......
sushil sarna
फितरत
फितरत
Dr. Seema Varma
ये साल भी इतना FAST गुजरा की
ये साल भी इतना FAST गुजरा की
Ranjeet kumar patre
शक्कर में ही घोलिए,
शक्कर में ही घोलिए,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
If.. I Will Become Careless,
If.. I Will Become Careless,
Ravi Betulwala
हिंदी है पहचान
हिंदी है पहचान
Seema gupta,Alwar
बेटा तेरे बिना माँ
बेटा तेरे बिना माँ
Basant Bhagawan Roy
किसी दर्दमंद के घाव पर
किसी दर्दमंद के घाव पर
Satish Srijan
गणतंत्र
गणतंत्र
लक्ष्मी सिंह
*हिंदी*
*हिंदी*
Dr. Priya Gupta
आखिरी मोहब्बत
आखिरी मोहब्बत
Shivkumar barman
राम तेरी माया
राम तेरी माया
Swami Ganganiya
मुझे गर्व है अलीगढ़ पर #रमेशराज
मुझे गर्व है अलीगढ़ पर #रमेशराज
कवि रमेशराज
* मुक्तक *
* मुक्तक *
surenderpal vaidya
संबंध अगर ह्रदय से हो
संबंध अगर ह्रदय से हो
शेखर सिंह
"चालाकी"
Ekta chitrangini
चन्द्रयान
चन्द्रयान
Kavita Chouhan
बगिया* का पेड़ और भिखारिन बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
बगिया* का पेड़ और भिखारिन बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
*अध्याय 12*
*अध्याय 12*
Ravi Prakash
आप और हम
आप और हम
Neeraj Agarwal
Loading...