Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Dec 2023 · 1 min read

परमात्मा

मनुष्य के रूप में परमात्मा सदा हमारे साथ होते हैं।
उनकी सेवा ही हमारा परम धर्म है।।

1 Like · 140 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
* शक्ति स्वरूपा *
* शक्ति स्वरूपा *
surenderpal vaidya
💐प्रेम कौतुक-558💐
💐प्रेम कौतुक-558💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अनिल
अनिल "आदर्श "
Anil "Aadarsh"
ज़िंदगी का नशा
ज़िंदगी का नशा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
है एक डोर
है एक डोर
Ranjana Verma
जरा विचार कीजिए
जरा विचार कीजिए
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
फ्लाइंग किस और धूम्रपान
फ्लाइंग किस और धूम्रपान
Dr. Harvinder Singh Bakshi
!! वीणा के तार !!
!! वीणा के तार !!
Chunnu Lal Gupta
शोभा वरनि न जाए, अयोध्या धाम की
शोभा वरनि न जाए, अयोध्या धाम की
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सच
सच
Neeraj Agarwal
🙏 * गुरु चरणों की धूल*🙏
🙏 * गुरु चरणों की धूल*🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
आत्मीय मुलाकात -
आत्मीय मुलाकात -
Seema gupta,Alwar
दिल कि गली
दिल कि गली
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
"भूल से भी देख लो,
*Author प्रणय प्रभात*
दिन भर रोशनी बिखेरता है सूरज
दिन भर रोशनी बिखेरता है सूरज
कवि दीपक बवेजा
"जब आपका कोई सपना होता है, तो
Manoj Kushwaha PS
आखिरी उम्मीद
आखिरी उम्मीद
Surya Barman
शहनाई की सिसकियां
शहनाई की सिसकियां
Shekhar Chandra Mitra
उसका-मेरा साथ सुहाना....
उसका-मेरा साथ सुहाना....
डॉ.सीमा अग्रवाल
चाँद
चाँद
Vandna Thakur
🧑‍🎓My life simple life🧑‍⚖️
🧑‍🎓My life simple life🧑‍⚖️
Ms.Ankit Halke jha
*मन के धागे बुने तो नहीं है*
*मन के धागे बुने तो नहीं है*
Buddha Prakash
मैं कहना भी चाहूं उनसे तो कह नहीं सकता
मैं कहना भी चाहूं उनसे तो कह नहीं सकता
Mr.Aksharjeet
"अपनी माँ की कोख"
Dr. Kishan tandon kranti
चँचल हिरनी
चँचल हिरनी
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
" अंधेरी रातें "
Yogendra Chaturwedi
जीवन साथी,,,दो शब्द ही तो है,,अगर सही इंसान से जुड़ जाए तो ज
जीवन साथी,,,दो शब्द ही तो है,,अगर सही इंसान से जुड़ जाए तो ज
Shweta Soni
कब हमको ये मालूम है,कब तुमको ये अंदाज़ा है ।
कब हमको ये मालूम है,कब तुमको ये अंदाज़ा है ।
Phool gufran
*जीवन में खुश रहने की वजह ढूँढना तो वाजिब बात लगती है पर खोद
*जीवन में खुश रहने की वजह ढूँढना तो वाजिब बात लगती है पर खोद
Seema Verma
प्यास
प्यास
sushil sarna
Loading...