Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

मजदूर बिना विकास असंभव ..( मजदूर दिवस पर विशेष)

सुनो आलीशान कोठियों में रहने वालों !
रहते हो जहां तुम बड़े शान से ।
बनाई गई है इन्हीं मजदूरों की मेहनत ,
और दिन रात बहने वाले खून पसीने से ।

यह बड़े बड़े होटल जहां तुम ,
अति उत्तम भोजन का लुत्फ उठाने जाते हो ।
जीवन में शायद ही कभी सुख लें सके इनका,
वोह गरीब मजदूर जिनको हेय तुम समझते हो ,
यह भी कठिन परिश्रम का फल है इनका ।

घर ,मकान ,होटल , इमारते ,खेल खलिहान ,
या कोई भी भवन निर्माण या पूल ।
किसी भी शहर के विकास के चिन्ह है जो ,
बिना मजदूरों के सहयोग से संभव नहीं ,
मगर स्वयं विकास के लाभ से रहते हैं गुल।

जाने कहां कहां से दूर दराज के गांवों ,
कस्बों से आते है शहर में कई सपने लिए ।
अभिजात्य वर्ग हेतु आलीशान मकान बनाते ,
खुद एक झोपड़ी भी नसीब नहीं होती रहने के लिए ।

कारखानों में भी जी तोड़ काम करते ,
मगर पगार में पाते चंद पैसे ।
ना जाने कैसे इनका गुजारा होता होगा ,
जिंदगी चलती होगी जैसे तैसे।

पुरुष और महिला और कभी कभी ,
नन्हे बच्चे भी मजदूरी करते है दिखते ।
सुबह शाम काम कर बेचारे ,
थके मंदे कई बार भूखे ही सो जाते ।

जिनके दम पर देश के विकास खड़ा,
करती है सरकार इन्हीं को अनदेखा क्यों ?
देश के नागरिक हैं यह भी ,मतदान करते हैं,
फिर करती है मूलभूत सुविधाओं से इन्हें वंचित क्यों ?

मजदूर विकास की नींव ,
इसे मजबूत बनाना सबका कर्तव्य है ।
कल्पना भी नहीं कर सकते अपनी खुशहाली की ,
जब तक मजदूर न हो सुखी यही सत्य है ।

1 Like · 110 Views
You may also like:
ऐ मेघ
सिद्धार्थ गोरखपुरी
मेरे पापा जैसे कोई....... है न ख़ुदा
Nitu Sah
तरसती रहोगी एक झलक पाने को
N.ksahu0007@writer
आज बहुत दिनों बाद
Krishan Singh
ईश्वर के संकेत
Dr. Alpa H. Amin
*!* मोहब्बत पेड़ों से *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
पानी कहे पुकार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बेफिक्री का आलम होता है।
Taj Mohammad
बंद हैं भारत में विद्यालय.
Pt. Brajesh Kumar Nayak
🌷🍀प्रेम की राह पर-49🍀🌷
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सोंच समझ....
Dr. Alpa H. Amin
तब मुझसे मत करना कोई सवाल तुम
gurudeenverma198
जो मौका रहनुमाई का मिला है
Anis Shah
पैसा
Arjun Chauhan
परिंदों सा।
Taj Mohammad
*प्रखर राष्ट्रवादी श्री रामरूप गुप्त*
Ravi Prakash
ऐ जिंदगी कितने दाँव सिखाती हैं
Dr. Alpa H. Amin
चाँद ने कहा
कुमार अविनाश केसर
वोह जब जाती है .
ओनिका सेतिया 'अनु '
चिन्ता और चिता में अन्तर
Ram Krishan Rastogi
पिता
Satpallm1978 Chauhan
✍️मनस्ताप✍️
"अशांत" शेखर
अहंकार
AMRESH KUMAR VERMA
नैतिकता और सेक्स संतुष्टि का रिलेशनशिप क्या है ?
Deepak Kohli
दर्पण!
सेजल गोस्वामी
बाबा की धूल
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
क्या देखें हम...
सूर्यकांत द्विवेदी
युद्ध हमेशा टाला जाए
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*चाची जी श्रीमती लक्ष्मी देवी : स्मृति*
Ravi Prakash
तो ऐसा नहीं होता
"अशांत" शेखर
Loading...