Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Mar 2017 · 1 min read

** मकां-मकां -मालिक **

वादों और इरादों में रखा है क्या

वादे सदा झूठे वादे निभाता है क्या

वादे – इरादे पल में बदल जाते है

कल क्या पल इन वादों का क्या

बातें लगती है दिलकश तुम्हें क्या

छुपाती हो मुझसे इश्क ओर क्या

आँखों में छायी है तुम्हारे खुमारी

आज भी लगती हो कन्या-कुमारी

दिल सजदा करता है क्या मुझको

दिल ढूंढ़ता दिल से क्या मुझको

ख़ुद ख़ुदा उतर आये जमीं पे कहे

चल मेरे साथ नन्दन-वन में रहें

मैं कहूं नहीं चाहिए स्वर्ग-अपवर्ग

धरा पे है स्वर्ग कैसे उसको तजदूं

ले लो मेरा सलाम कहो तो सजदा

तुम्हारे इजलास में कलाम पढ़ दूं

ना करो चिंता,चिंता है चिता समान

जिंदा-आदमी को करदे मुर्दा समान

मरघट जाता आदमी भूल जाता है

आता है जब लौटकर गुनगुनाता है

किरायेदार कब मिट्टी के मकां में

मर्जी-मनमर्जी से तक रह पाता है

मोह फिर भी नहीं छोड़ पाता है

कहता है मकां पे हक़ हमारा है

जब होती है डिक्री खोती बेफिक्री

मकां- बेमकां बेचारा हो जाता है

बनाओ किसी के दिल में मकां तो

बेमकां हो जाये मकां-मालिक और

मकां-मकां-मालिक तुम्हारा हो जाये।।

?मधुप बैरागी

Language: Hindi
1 Like · 239 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from भूरचन्द जयपाल
View all
You may also like:
काश लौट कर आए वो पुराने जमाने का समय ,
काश लौट कर आए वो पुराने जमाने का समय ,
Shashi kala vyas
साइकिल चलाने से प्यार के वो दिन / musafir baitha
साइकिल चलाने से प्यार के वो दिन / musafir baitha
Dr MusafiR BaithA
अजीब मानसिक दौर है
अजीब मानसिक दौर है
पूर्वार्थ
सुंदर शरीर का, देखो ये क्या हाल है
सुंदर शरीर का, देखो ये क्या हाल है
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
बचपन
बचपन
Shyam Sundar Subramanian
तपाक से लगने वाले गले , अब तो हाथ भी ख़ौफ़ से मिलाते हैं
तपाक से लगने वाले गले , अब तो हाथ भी ख़ौफ़ से मिलाते हैं
Atul "Krishn"
#लघुकथा :--
#लघुकथा :--
*Author प्रणय प्रभात*
एक प्रयास अपने लिए भी
एक प्रयास अपने लिए भी
Dr fauzia Naseem shad
तत्काल लाभ के चक्कर में कोई ऐसा कार्य नहीं करें, जिसमें धन भ
तत्काल लाभ के चक्कर में कोई ऐसा कार्य नहीं करें, जिसमें धन भ
Paras Nath Jha
अगर आप समय के अनुसार नही चलकर शिक्षा को अपना मूल उद्देश्य नह
अगर आप समय के अनुसार नही चलकर शिक्षा को अपना मूल उद्देश्य नह
Shashi Dhar Kumar
15)”शिक्षक”
15)”शिक्षक”
Sapna Arora
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
Vansh Agarwal
डीजे
डीजे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
2505.पूर्णिका
2505.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
सूनी बगिया हुई विरान ?
सूनी बगिया हुई विरान ?
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
कैसे- कैसे नींद में,
कैसे- कैसे नींद में,
sushil sarna
पूर्व दिशा से सूरज रोज निकलते हो
पूर्व दिशा से सूरज रोज निकलते हो
Dr Archana Gupta
अच्छा बोलने से अगर अच्छा होता,
अच्छा बोलने से अगर अच्छा होता,
Manoj Mahato
उसको भी प्यार की ज़रूरत है
उसको भी प्यार की ज़रूरत है
Aadarsh Dubey
7-सूरज भी डूबता है सरे-शाम देखिए
7-सूरज भी डूबता है सरे-शाम देखिए
Ajay Kumar Vimal
मोदी जी का स्वच्छ भारत का जो सपना है
मोदी जी का स्वच्छ भारत का जो सपना है
gurudeenverma198
कीमत
कीमत
Ashwani Kumar Jaiswal
वसंत के दोहे।
वसंत के दोहे।
Anil Mishra Prahari
खेल और राजनीती
खेल और राजनीती
'अशांत' शेखर
*आई गंगा स्वर्ग से, उतर हिमालय धाम (कुंडलिया)*
*आई गंगा स्वर्ग से, उतर हिमालय धाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मुहब्बत ने मुहब्बत से सदाक़त सीख ली प्रीतम
मुहब्बत ने मुहब्बत से सदाक़त सीख ली प्रीतम
आर.एस. 'प्रीतम'
पुस्तकें
पुस्तकें
डॉ. शिव लहरी
कोरोना - इफेक्ट
कोरोना - इफेक्ट
Kanchan Khanna
"सम्भावना"
Dr. Kishan tandon kranti
उदास देख कर मुझको उदास रहने लगे।
उदास देख कर मुझको उदास रहने लगे।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
Loading...