Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Feb 2024 · 1 min read

मंदिर की नींव रखी, मुखिया अयोध्या धाम।

मंदिर की नींव रखी, मुखिया अयोध्या धाम।
सफल हुई है मेरी, आज राम वंदना।।

जीवन को आर-पार, आप करो बार-बार।
करते रहो जी आप, राम-राम वंदना।।

अपने ही धाम आके, किसने सोचा था कहो।
खुद ही करेंगे राम, राम-राम वंदना।

हाथ जोड़ बेशरम, करता सुबह शाम।
सबको है राम-राम, राम-राम वंदना।।

49 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
की तरह
की तरह
Neelam Sharma
स्मृति ओहिना हियमे-- विद्यानन्द सिंह
स्मृति ओहिना हियमे-- विद्यानन्द सिंह
श्रीहर्ष आचार्य
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
चन्द फ़ितरती दोहे
चन्द फ़ितरती दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
लेखन-शब्द कहां पहुंचे तो कहां ठहरें,
लेखन-शब्द कहां पहुंचे तो कहां ठहरें,
manjula chauhan
💐Prodigy Love-34💐
💐Prodigy Love-34💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
20. सादा
20. सादा
Rajeev Dutta
जनता के हिस्से सिर्फ हलाहल
जनता के हिस्से सिर्फ हलाहल
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
नज़र में मेरी तुम
नज़र में मेरी तुम
Dr fauzia Naseem shad
****शीतल प्रभा****
****शीतल प्रभा****
Kavita Chouhan
गौरवशाली भारत
गौरवशाली भारत
Shaily
जीवन है अलग अलग हालत, रिश्ते, में डालेगा और वही अलग अलग हालत
जीवन है अलग अलग हालत, रिश्ते, में डालेगा और वही अलग अलग हालत
पूर्वार्थ
"सुरेंद्र शर्मा, मरे नहीं जिन्दा हैं"
Anand Kumar
साँसों के संघर्ष से, देह गई जब हार ।
साँसों के संघर्ष से, देह गई जब हार ।
sushil sarna
विचार, संस्कार और रस [ तीन ]
विचार, संस्कार और रस [ तीन ]
कवि रमेशराज
प्यार के सिलसिले
प्यार के सिलसिले
Basant Bhagawan Roy
कैसे गाएँ गीत मल्हार
कैसे गाएँ गीत मल्हार
संजय कुमार संजू
Mere shaksiyat  ki kitab se ab ,
Mere shaksiyat ki kitab se ab ,
Sakshi Tripathi
जाने वाले का शुक्रिया, आने वाले को सलाम।
जाने वाले का शुक्रिया, आने वाले को सलाम।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मात्र नाम नहीं तुम
मात्र नाम नहीं तुम
Mamta Rani
इबादत अपनी
इबादत अपनी
Satish Srijan
पतझड़ तेरी वंदना, तेरी जय-जयकार(कुंडलिया)
पतझड़ तेरी वंदना, तेरी जय-जयकार(कुंडलिया)
Ravi Prakash
आप सभी सनातनी और गैर सनातनी भाईयों और दोस्तों को सपरिवार भगव
आप सभी सनातनी और गैर सनातनी भाईयों और दोस्तों को सपरिवार भगव
SPK Sachin Lodhi
#दोहा
#दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
शंगोल
शंगोल
Bodhisatva kastooriya
"बेहतर दुनिया के लिए"
Dr. Kishan tandon kranti
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तन्हाई
तन्हाई
Surinder blackpen
एहसास
एहसास
Vandna thakur
2458.पूर्णिका
2458.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
Loading...