Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Aug 2023 · 1 min read

मंजिल तक का संघर्ष

अगर लिखनी है तकदीर इतिहास में
तो क्या धूप और क्या छाँव ,
मंजिल तक का सफ़र सिर्फ़ संघर्ष परखेगा…..

कोशिश कर मुसाफिर और आगे बढ़
क्योकिं जिंदगी का का सफ़र इतना सरल नहीं है
जिंदगी के सफ़र में काँटे भी आयेंगे ,
कठोर चट्टाने भी आयेगी ……….

काँटो को हटाकर,चट्टानों को तोड़कर
रास्ता बनाकर चलना पड़ेगा
मुश्किलें भी आयेगी झेलनी भी पड़ेगी
संघर्ष भी करना पड़ेगा ……….

सिर्फ़ तीन बातो को ध्यान में रखना पड़ेगा
खुद पर विश्वास,मजबूत इरादा
और मेहनतकश कार्य
तभी तो सफ़ल व्यक्ति की श्रेणी में गिने जाओगे !!

प्रवीण सैन नवापुरा ध्वेचा,
बागोड़ा (जालोर)

Language: Hindi
284 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
राम से बड़ा राम का नाम
राम से बड़ा राम का नाम
Anil chobisa
#justareminderekabodhbalak
#justareminderekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
संविधान  की बात करो सब केवल इतनी मर्जी  है।
संविधान की बात करो सब केवल इतनी मर्जी है।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
மறுபிறவியின் உண்மை
மறுபிறவியின் உண்மை
Shyam Sundar Subramanian
पेड़ काट निर्मित किए, घुटन भरे बहु भौन।
पेड़ काट निर्मित किए, घुटन भरे बहु भौन।
विमला महरिया मौज
यदि आप सकारात्मक नजरिया रखते हैं और हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ प
यदि आप सकारात्मक नजरिया रखते हैं और हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ प
पूर्वार्थ
तू ही मेरी चॉकलेट, तू प्यार मेरा विश्वास। तुमसे ही जज्बात का हर रिश्तो का एहसास। तुझसे है हर आरजू तुझ से सारी आस।। सगीर मेरी वो धरती है मैं उसका एहसास।
तू ही मेरी चॉकलेट, तू प्यार मेरा विश्वास। तुमसे ही जज्बात का हर रिश्तो का एहसास। तुझसे है हर आरजू तुझ से सारी आस।। सगीर मेरी वो धरती है मैं उसका एहसास।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
बोझ
बोझ
Dr. Pradeep Kumar Sharma
चाय ही पी लेते हैं
चाय ही पी लेते हैं
Ghanshyam Poddar
जीने का एक अच्छा सा जज़्बा मिला मुझे
जीने का एक अच्छा सा जज़्बा मिला मुझे
अंसार एटवी
सोच का आईना
सोच का आईना
Dr fauzia Naseem shad
विडम्बना
विडम्बना
Shaily
मौके पर धोखे मिल जाते ।
मौके पर धोखे मिल जाते ।
Rajesh vyas
"मशवरा"
Dr. Kishan tandon kranti
*** बिंदु और परिधि....!!! ***
*** बिंदु और परिधि....!!! ***
VEDANTA PATEL
माँ जब भी दुआएं देती है
माँ जब भी दुआएं देती है
Bhupendra Rawat
काशी
काशी
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
हर एक अवसर से मंजर निकाल लेता है...
हर एक अवसर से मंजर निकाल लेता है...
कवि दीपक बवेजा
ज़िन्दगी की बोझ यूँ ही उठाते रहेंगे हम,
ज़िन्दगी की बोझ यूँ ही उठाते रहेंगे हम,
Anand Kumar
नन्ही भिखारन!
नन्ही भिखारन!
कविता झा ‘गीत’
विश्वास
विश्वास
धर्मेंद्र अरोड़ा मुसाफ़िर
*शिक्षक हमें पढ़ाता है*
*शिक्षक हमें पढ़ाता है*
Dushyant Kumar
जीवन की यह झंझावातें
जीवन की यह झंझावातें
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
गरमी का वरदान है ,फल तरबूज महान (कुंडलिया)
गरमी का वरदान है ,फल तरबूज महान (कुंडलिया)
Ravi Prakash
5. इंद्रधनुष
5. इंद्रधनुष
Rajeev Dutta
वनिता
वनिता
Satish Srijan
2969.*पूर्णिका*
2969.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मंगल मूरत
मंगल मूरत
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
खामोश अवशेष ....
खामोश अवशेष ....
sushil sarna
Meditation
Meditation
Ravikesh Jha
Loading...