Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Jul 2023 · 1 min read

मंज़िल को पाने के लिए साथ

मंज़िल को पाने के लिए साथ
आपना साया तो होना चाहिए
अपनी व्यथा किसको सुनाऊ
कोई सुनने वाला तो चाहिए !! @परिमल

344 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
काश - दीपक नील पदम्
काश - दीपक नील पदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
जब बातेंं कम हो जाती है अपनों की,
जब बातेंं कम हो जाती है अपनों की,
Dr. Man Mohan Krishna
*छिपी रहती सरल चेहरों के, पीछे होशियारी है (हिंदी गजल)*
*छिपी रहती सरल चेहरों के, पीछे होशियारी है (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
24, *ईक्सवी- सदी*
24, *ईक्सवी- सदी*
Dr Shweta sood
मुझे नहीं पसंद किसी की जीहुजूरी
मुझे नहीं पसंद किसी की जीहुजूरी
ruby kumari
#ग़ज़ल
#ग़ज़ल
*Author प्रणय प्रभात*
नारी का क्रोध
नारी का क्रोध
लक्ष्मी सिंह
नया साल
नया साल
अरशद रसूल बदायूंनी
दो वक्त के निवाले ने मजदूर बना दिया
दो वक्त के निवाले ने मजदूर बना दिया
VINOD CHAUHAN
भारत के राम
भारत के राम
करन ''केसरा''
श्रेष्ठ वही है...
श्रेष्ठ वही है...
Shubham Pandey (S P)
जीवन ज्योति
जीवन ज्योति
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
बेशर्मी से ... (क्षणिका )
बेशर्मी से ... (क्षणिका )
sushil sarna
गिलहरी
गिलहरी
Satish Srijan
दिव्य-दोहे
दिव्य-दोहे
Ramswaroop Dinkar
एक हसीं ख्वाब
एक हसीं ख्वाब
Mamta Rani
*****नियति*****
*****नियति*****
Kavita Chouhan
Labour day
Labour day
अंजनीत निज्जर
माँ आज भी जिंदा हैं
माँ आज भी जिंदा हैं
Er.Navaneet R Shandily
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
एकीकरण की राह चुनो
एकीकरण की राह चुनो
Jatashankar Prajapati
माया का रोग (व्यंग्य)
माया का रोग (व्यंग्य)
नवीन जोशी 'नवल'
"जिन्दगी में"
Dr. Kishan tandon kranti
वह मुस्कुराते हुए पल मुस्कुराते
वह मुस्कुराते हुए पल मुस्कुराते
goutam shaw
मंत्र  :  दधाना करपधाभ्याम,
मंत्र : दधाना करपधाभ्याम,
Harminder Kaur
आपाधापी व्यस्त बहुत हैं दफ़्तर  में  व्यापार में ।
आपाधापी व्यस्त बहुत हैं दफ़्तर में व्यापार में ।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
कुछ शब्द
कुछ शब्द
Vivek saswat Shukla
अभी दिल भरा नही
अभी दिल भरा नही
Ram Krishan Rastogi
इश्क़ का दस्तूर
इश्क़ का दस्तूर
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मकसद कि दोस्ती
मकसद कि दोस्ती
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Loading...