Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 May 2022 · 1 min read

ब्रेकिंग न्यूज़

है मानवता खतरे में
लेकिन उन्हें मज़ा आ रहा है
वो जो हमको युद्ध की
पल पल की जानकारी दे रहा है
फैलाकर अफवाहें वो
जाने लोगों को क्यों डरा रहा है
कुछ नहीं कर रहा बस
अपनी टी आर पी बढ़ा रहा है
जप रहा विश्वयुद्ध की माला
आम जन मानस में भय फैला रहा है
लग रहा जैसे हमको कोई
सनसनीखेज़ कहानी सुना रहा है
मर गई भावनाएं उसकी
अव्वल चैनल खुद को कह रहा है
लगता है जैसे समाचार नहीं
अजब सी सनसनी फैला रहा है
कैदी ने जेल में क्या खाया
ऐसी ब्रेकिंग न्यूज़ चला रहा है

Language: Hindi
10 Likes · 3 Comments · 597 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
View all
You may also like:
फ़ितरत
फ़ितरत
Kavita Chouhan
तुझसे परेशान हैं आज तुझको बसाने वाले
तुझसे परेशान हैं आज तुझको बसाने वाले
VINOD CHAUHAN
पुश्तैनी दौलत
पुश्तैनी दौलत
Satish Srijan
खेत -खलिहान
खेत -खलिहान
नाथ सोनांचली
🙅आज पता चला🙅
🙅आज पता चला🙅
*प्रणय प्रभात*
मेरा जीवन,मेरी सांसे सारा तोहफा तेरे नाम। मौसम की रंगीन मिज़ाजी,पछुवा पुरवा तेरे नाम। ❤️
मेरा जीवन,मेरी सांसे सारा तोहफा तेरे नाम। मौसम की रंगीन मिज़ाजी,पछुवा पुरवा तेरे नाम। ❤️
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
पतग की परिणीति
पतग की परिणीति
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
उम्र बढती रही दोस्त कम होते रहे।
उम्र बढती रही दोस्त कम होते रहे।
Sonu sugandh
शिकायत नही तू शुक्रिया कर
शिकायत नही तू शुक्रिया कर
Surya Barman
अंग प्रदर्शन करने वाले जितने भी कलाकार है उनके चरित्र का अस्
अंग प्रदर्शन करने वाले जितने भी कलाकार है उनके चरित्र का अस्
Rj Anand Prajapati
क्या यह महज संयोग था या कुछ और.... (3)
क्या यह महज संयोग था या कुछ और.... (3)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
"खरगोश"
Dr. Kishan tandon kranti
दीपक माटी-धातु का,
दीपक माटी-धातु का,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जीवन से ओझल हुए,
जीवन से ओझल हुए,
sushil sarna
3253.*पूर्णिका*
3253.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
Acrostic Poem
Acrostic Poem
jayanth kaweeshwar
मोबाइल फोन
मोबाइल फोन
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
ठहराव नहीं अच्छा
ठहराव नहीं अच्छा
Dr. Meenakshi Sharma
दिल का भी क्या कसूर है
दिल का भी क्या कसूर है
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
आया तीजो का त्यौहार
आया तीजो का त्यौहार
Ram Krishan Rastogi
गीतिका
गीतिका
जगदीश शर्मा सहज
*दादी की बहादुरी(कहानी)*
*दादी की बहादुरी(कहानी)*
Dushyant Kumar
साहित्य चेतना मंच की मुहीम घर-घर ओमप्रकाश वाल्मीकि
साहित्य चेतना मंच की मुहीम घर-घर ओमप्रकाश वाल्मीकि
Dr. Narendra Valmiki
"पापा की परी"
Yogendra Chaturwedi
क्या कहती है तस्वीर
क्या कहती है तस्वीर
Surinder blackpen
कुत्ते
कुत्ते
Dr MusafiR BaithA
ऐ सूरज तू अपनी ताप को अब कम कर दे
ऐ सूरज तू अपनी ताप को अब कम कर दे
Keshav kishor Kumar
गर्म चाय
गर्म चाय
Kanchan Khanna
कोई दरिया से गहरा है
कोई दरिया से गहरा है
कवि दीपक बवेजा
*शिवोहम्*
*शिवोहम्* "" ( *ॐ नमः शिवायः* )
सुनीलानंद महंत
Loading...