Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Sep 2022 · 1 min read

बेटी तो ऐसी ही होती है

बेटी तो, ऐसी ही होती है।
शान घर की, बेटी ही होती है।।
कम नहीं है बेटी , बेटों से।
इज्ज़त घर की , बेटी ही होती है।।
बेटी तो, ऐसी ———————।।

आँगन की खुशी, बेटी ही है।
रोशनी घर की, बेटी ही है।।
बेटी बिना नहीं, रौनक घर में।
गौरव घर की, बेटी ही है।।
बोझ नहीं समझो, बेटी को तुम।
लक्ष्मी घर की, बेटी ही होती है।।
बेटी तो, ऐसी———————।।

घर का नाम रोशन, किया बेटी ने।
वंश परिवार का, बेटी ने बढ़ाया।।
इंदिरा, झांसी रानी, कल्पना चावला।
इन्होंने सम्मान, वतन का बढ़ाया।।
बेटों से कम महत्त्व नहीं, बेटी का।
बेटी भी घर की , वारिस होती है।।
बेटी तो ,ऐसी ———————।।

बेटियों के लिए, मानसिकता बदलो।
बेटी को बचाओ, बेटी को पढ़ाओ।।
लेने दो इनको जन्म, धरती पर।
कोख में नहीं हत्या, इनकी कराओ।।
देती है सहारा बुढ़ापे में,बेटियां।
लाठी बुढ़ापे की , बेटी भी होती है।।
बेटी तो,ऐसी ———————-।।

साहित्यकार एवं शिक्षक-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)
मोबाईल नम्बर- 9571070847

Language: Hindi
Tag: गीत
512 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अपने जीवन के प्रति आप जैसी धारणा रखते हैं,बदले में आपका जीवन
अपने जीवन के प्रति आप जैसी धारणा रखते हैं,बदले में आपका जीवन
Paras Nath Jha
कहें किसे क्या आजकल, सब मर्जी के मीत ।
कहें किसे क्या आजकल, सब मर्जी के मीत ।
sushil sarna
शाम
शाम
Kanchan Khanna
अब खयाल कहाँ के खयाल किसका है
अब खयाल कहाँ के खयाल किसका है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
■ अटल सौभाग्य के पर्व पर
■ अटल सौभाग्य के पर्व पर
*प्रणय प्रभात*
...........!
...........!
शेखर सिंह
मुसलसल ईमान-
मुसलसल ईमान-
Bodhisatva kastooriya
युगों    पुरानी    कथा   है, सम्मुख  करें व्यान।
युगों पुरानी कथा है, सम्मुख करें व्यान।
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
धनवान -: माँ और मिट्टी
धनवान -: माँ और मिट्टी
Surya Barman
यदि मैं अंधभक्त हूँ तो, तू भी अंधभक्त है
यदि मैं अंधभक्त हूँ तो, तू भी अंधभक्त है
gurudeenverma198
शिद्दत से की गई मोहब्बत
शिद्दत से की गई मोहब्बत
Harminder Kaur
कोहली किंग
कोहली किंग
पूर्वार्थ
# कुछ देर तो ठहर जाओ
# कुछ देर तो ठहर जाओ
Koमल कुmari
जीवनी स्थूल है/सूखा फूल है
जीवनी स्थूल है/सूखा फूल है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
अहं
अहं
Shyam Sundar Subramanian
वो पेड़ को पकड़ कर जब डाली को मोड़ेगा
वो पेड़ को पकड़ कर जब डाली को मोड़ेगा
Keshav kishor Kumar
राजनीति
राजनीति
Dr. Pradeep Kumar Sharma
कहती गौरैया
कहती गौरैया
Dr.Pratibha Prakash
मित्र, चित्र और चरित्र बड़े मुश्किल से बनते हैं। इसे सँभाल क
मित्र, चित्र और चरित्र बड़े मुश्किल से बनते हैं। इसे सँभाल क
Anand Kumar
रमेशराज की तेवरी
रमेशराज की तेवरी
कवि रमेशराज
यूं ही कुछ लिख दिया था।
यूं ही कुछ लिख दिया था।
Taj Mohammad
*कविवर शिव कुमार चंदन* *(कुंडलिया)*
*कविवर शिव कुमार चंदन* *(कुंडलिया)*
Ravi Prakash
"अन्दर ही अन्दर"
Dr. Kishan tandon kranti
अपनी हीं क़ैद में हूँ
अपनी हीं क़ैद में हूँ
Shweta Soni
विश्व पुस्तक मेला, दिल्ली 2023
विश्व पुस्तक मेला, दिल्ली 2023
Shashi Dhar Kumar
Neet aspirant suicide in Kota.....
Neet aspirant suicide in Kota.....
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
प्रेम
प्रेम
Mamta Rani
23/192. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/192. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
स्वप्न लोक के खिलौने - दीपक नीलपदम्
स्वप्न लोक के खिलौने - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
बचा ले मुझे🙏🙏
बचा ले मुझे🙏🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Loading...