Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Feb 2024 · 1 min read

बुझा दीपक जलाया जा रहा है

बुझा दीपक जलाया जा रहा है
मुझे “पागल” बनाया जा रहा है
करे आंखों से अपनी छेड़खानी
हमे दिल में बसाया जा रहा है
बड़ी मासूम है उनकी निगाहें
मेरे दिल को चुराया जा रहा है
जिसे ढूंढा नजर आता नही वो
बिना मतलब सताया जा रहा है
✍️कृष्णकांत गुर्जर धनौरा

690 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
लड़की किसी को काबिल बना गई तो किसी को कालिख लगा गई।
लड़की किसी को काबिल बना गई तो किसी को कालिख लगा गई।
Rj Anand Prajapati
गंगा की जलधार
गंगा की जलधार
surenderpal vaidya
भोग कामना - अंतहीन एषणा
भोग कामना - अंतहीन एषणा
Atul "Krishn"
अमिट सत्य
अमिट सत्य
विजय कुमार अग्रवाल
बहुत अंदर तक जला देती हैं वो शिकायतें,
बहुत अंदर तक जला देती हैं वो शिकायतें,
शेखर सिंह
****हमारे मोदी****
****हमारे मोदी****
Kavita Chouhan
*किले में योगाभ्यास*
*किले में योगाभ्यास*
Ravi Prakash
अर्थ में,अनर्थ में अंतर बहुत है
अर्थ में,अनर्थ में अंतर बहुत है
Shweta Soni
छोड़ दिया किनारा
छोड़ दिया किनारा
Kshma Urmila
मुझसे देखी न गई तकलीफ़,
मुझसे देखी न गई तकलीफ़,
पूर्वार्थ
माना की देशकाल, परिस्थितियाँ बदलेंगी,
माना की देशकाल, परिस्थितियाँ बदलेंगी,
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
तुम अभी आना नहीं।
तुम अभी आना नहीं।
Taj Mohammad
*पर्वतों की सैर*
*पर्वतों की सैर*
sudhir kumar
■ आज का दोहा...।
■ आज का दोहा...।
*प्रणय प्रभात*
प्रेम जीवन में सार
प्रेम जीवन में सार
Dr.sima
मुमकिन हो जाएगा
मुमकिन हो जाएगा
Amrita Shukla
"मित्रता"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
एक तूही ममतामई
एक तूही ममतामई
Basant Bhagawan Roy
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
3048.*पूर्णिका*
3048.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मैं  नहीं   हो  सका,   आपका  आदतन
मैं नहीं हो सका, आपका आदतन
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
राजनीती
राजनीती
Bodhisatva kastooriya
वसन्त का स्वागत है vasant kaa swagat hai
वसन्त का स्वागत है vasant kaa swagat hai
Mohan Pandey
गुज़ारिश है रब से,
गुज़ारिश है रब से,
Sunil Maheshwari
जब मैसेज और काॅल से जी भर जाता है ,
जब मैसेज और काॅल से जी भर जाता है ,
Manoj Mahato
ज़िंदगी मौत,पर
ज़िंदगी मौत,पर
Dr fauzia Naseem shad
संस्कार
संस्कार
Sanjay ' शून्य'
नहीं है पूर्ण आजादी
नहीं है पूर्ण आजादी
लक्ष्मी सिंह
❤️🌺मेरी मां🌺❤️
❤️🌺मेरी मां🌺❤️
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
सुविचार
सुविचार
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
Loading...