Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jun 2023 · 1 min read

बारिश और उनकी यादें…

बारिश और उनकी यादें…

ये बारिश याद दिलाती है
दिन रात उनकी याद दिलाती है
जिस प्रकार सुखी धरती को बारिश की ये बूंदे प्यारी लगती है,
उसी प्रकार उनकी डायरी को मेरी कलम की स्याही प्यारी लगती है
कितना अच्छा लगता है ना जब बारिश की ये बूंदे धूल के कण से मिलकर एक नया खुशबू देती है।
वही खुशबू दिन रात मुझे उसकी याद दिलाती है।।

509 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
2432.पूर्णिका
2432.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
वक़्त के साथ वो
वक़्त के साथ वो
Dr fauzia Naseem shad
ऐ नौजवानों!
ऐ नौजवानों!
Shekhar Chandra Mitra
तड़पता भी है दिल
तड़पता भी है दिल
हिमांशु Kulshrestha
मरासिम
मरासिम
Shyam Sundar Subramanian
एक अलग सी चमक है उसके मुखड़े में,
एक अलग सी चमक है उसके मुखड़े में,
manjula chauhan
*सच्चाई यह जानिए, जीवन दुःख-प्रधान (कुंडलिया)*
*सच्चाई यह जानिए, जीवन दुःख-प्रधान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
चिड़िया चली गगन आंकने
चिड़िया चली गगन आंकने
AMRESH KUMAR VERMA
बीड़ी की बास
बीड़ी की बास
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
गम खास होते हैं
गम खास होते हैं
ruby kumari
■ भय का कारोबार...
■ भय का कारोबार...
*Author प्रणय प्रभात*
तुमने देखा ही नहीं
तुमने देखा ही नहीं
Surinder blackpen
If you migrate to search JOBS
If you migrate to search JOBS
Ankita Patel
" वाई फाई में बसी सबकी जान "
Dr Meenu Poonia
अंदाज़े शायरी
अंदाज़े शायरी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Hum khuch din bat nhi kiye apse.
Hum khuch din bat nhi kiye apse.
Sakshi Tripathi
मेरा प्रेम के प्रति सम्मान
मेरा प्रेम के प्रति सम्मान
Ms.Ankit Halke jha
रक़्श करतें हैं ख़यालात मेरे जब भी कभी..
रक़्श करतें हैं ख़यालात मेरे जब भी कभी..
Mahendra Narayan
"याद"
Dr. Kishan tandon kranti
तुम्हें बुरी लगती हैं मेरी बातें, मेरा हर सवाल,
तुम्हें बुरी लगती हैं मेरी बातें, मेरा हर सवाल,
पूर्वार्थ
बुंदेली दोहा- पैचान१
बुंदेली दोहा- पैचान१
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
चंद्रयान-२ और ३ मिशन
चंद्रयान-२ और ३ मिशन
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
दोहा छंद विधान ( दोहा छंद में )
दोहा छंद विधान ( दोहा छंद में )
Subhash Singhai
मेरे अल्फाज याद रखना
मेरे अल्फाज याद रखना
VINOD CHAUHAN
Kuch nahi hai.... Mager yakin to hai  zindagi  kam hi  sahi.
Kuch nahi hai.... Mager yakin to hai zindagi kam hi sahi.
Rekha Rajput
जरूरत से ज्यादा
जरूरत से ज्यादा
Ragini Kumari
💐अज्ञात के प्रति-107💐
💐अज्ञात के प्रति-107💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हिंदू सनातन धर्म
हिंदू सनातन धर्म
विजय कुमार अग्रवाल
ख्याल
ख्याल
अखिलेश 'अखिल'
Loading...