Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Jun 2023 · 1 min read

बात उनकी क्या कहूँ…

गीत…

बात उनकी क्या कहूँ सुनता कहाँ कोई यहाँ।
प्यार हो जिसमें भरा मिलता कहाँ कोई यहाँ।।

आइने में झांकते तस्वीर अपनी रोज जो।
कर रहे हैं रात- दिन दुश्वारियों की खोज जो।
चाहता है मन जिसे दिखता कहाँ कोई यहाँ।
प्यार हो जिसमें भरा मिलता कहाँ कोई यहाँ।।

हो रही बाजार में अपनत्व की अब रैलियाँ।
नित बदलती जा रही है बोलने की शैलियाँ।
मौन ही सब हो गये कहता कहाँ कोई यहाँ।
प्यार हो जिसमें भरा मिलता कहाँ कोई यहाँ।।

है सफ़र आसान जीवन का नहीं यह जानते।
छूट जाते हैं यहाँ पर लोग सच यह मानते।
साथ दुर्दिन में कभी चलता कहाँ कोई यहाँ।
प्यार हो जिसमें भरा मिलता कहाँ कोई यहाँ।।

बात उनकी क्या कहूँ सुनता कहाँ कोई यहाँ।
प्यार हो जिसमें भरा मिलता कहाँ कोई यहाँ।।

डाॅ. राजेन्द्र सिंह ‘राही’
(बस्ती उ. प्र.)

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 150 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
वादा
वादा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
प्रेम निवेश है ❤️
प्रेम निवेश है ❤️
Rohit yadav
होली मुबारक
होली मुबारक
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
"तलाश"
Dr. Kishan tandon kranti
-- मैं --
-- मैं --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
मारुति
मारुति
Kavita Chouhan
20-- 🌸बहुत सहा 🌸
20-- 🌸बहुत सहा 🌸
Mahima shukla
बह्र- 1222 1222 1222 1222 मुफ़ाईलुन मुफ़ाईलुन मुफ़ाईलुन मुफ़ाईलुन काफ़िया - सारा रदीफ़ - है
बह्र- 1222 1222 1222 1222 मुफ़ाईलुन मुफ़ाईलुन मुफ़ाईलुन मुफ़ाईलुन काफ़िया - सारा रदीफ़ - है
Neelam Sharma
जब किनारे दिखाई देते हैं !
जब किनारे दिखाई देते हैं !
Shyam Vashishtha 'शाहिद'
बाल कविता: तितली
बाल कविता: तितली
Rajesh Kumar Arjun
रामराज्य
रामराज्य
कार्तिक नितिन शर्मा
** वर्षा ऋतु **
** वर्षा ऋतु **
surenderpal vaidya
आनन ग्रंथ (फेसबुक)
आनन ग्रंथ (फेसबुक)
Indu Singh
[28/03, 17:02] Dr.Rambali Mishra: *पाप का घड़ा फूटता है (दोह
[28/03, 17:02] Dr.Rambali Mishra: *पाप का घड़ा फूटता है (दोह
Rambali Mishra
क्या पता है तुम्हें
क्या पता है तुम्हें
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ऐ .. ऐ .. ऐ कविता
ऐ .. ऐ .. ऐ कविता
नेताम आर सी
💐💐कुण्डलिया निवेदन💐💐
💐💐कुण्डलिया निवेदन💐💐
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
ज्ञानों का महा संगम
ज्ञानों का महा संगम
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
इश्क की गलियों में
इश्क की गलियों में
Dr. Man Mohan Krishna
आहत हूॅ
आहत हूॅ
Dinesh Kumar Gangwar
ఓ యువత మేలుకో..
ఓ యువత మేలుకో..
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
*बरगद (बाल कविता)*
*बरगद (बाल कविता)*
Ravi Prakash
रंगीन हुए जा रहे हैं
रंगीन हुए जा रहे हैं
हिमांशु Kulshrestha
संकल्प
संकल्प
Vedha Singh
हो जाती है साँझ
हो जाती है साँझ
sushil sarna
अंतिम क्षण में अपना सर्वश्रेष्ठ दें।
अंतिम क्षण में अपना सर्वश्रेष्ठ दें।
Bimal Rajak
वक़्त को गुज़र
वक़्त को गुज़र
Dr fauzia Naseem shad
-शुभ स्वास्तिक
-शुभ स्वास्तिक
Seema gupta,Alwar
#क़तआ (मुक्तक)
#क़तआ (मुक्तक)
*Author प्रणय प्रभात*
चाहे किसी के साथ रहे तू , फिर भी मेरी याद आयेगी
चाहे किसी के साथ रहे तू , फिर भी मेरी याद आयेगी
gurudeenverma198
Loading...