Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Apr 2024 · 1 min read

बहुत जरूरी है एक शीतल छाया

#दिनांक:-1/4/2024
#शीर्षक:-बहुत जरूरी है एक शीतल छाया

आह बेताब होकर,
फिर थोड़ा सा रोकर,
खुद की आँसू पोंछ डाला,
तंग आकर इस दुनिया से,
मैंने अपने आप से मुहब्बत कर डाला ,
जब मायूस होती!
समझाती दुलारती खुद को,
जब जीतती ,
मिठाई खिलाती खुद को ,
जब कोई दिल दुखाता,
पहले बहुत गुस्सा करती खुद पर,
फिर पीठ थपथपाती प्यार दिखाती खुद को ।
गाना एक प्रेमी की तरह,
अपनी रूह प्रेमिका को सुनाती,
ना आये नींद जब,
लोरी गाकर सिर हौले -होले सहलाती,
सब कुछ अपने आप से है फिर भी तन्हाई है ।
पागल दिल जीतकर भी हारा हरजाई है।
प्रेम में बिह्वल होकर भी ,
खुद को गले नहीं लगा पाती ।
गालों को चूम नहीं पाती ,
कंधे पर सर रख नहीं पाती
धड़कनें सुन नहीं पातीं,
तभी कमजोर पड़ जाती हूँ ।
अपने अंदर के अपने से आह सुन पाती हूँ,
जरूरी है
बहुत जरूरी है एक शीतल छाया की ,
लिपटाये लिपटी रहे ऐसी काया की ,
रिश्ते मधुर मजबूत मेहनती माया की,
जीवन गुदगुदाते एहसास जय जाया की… ।

(स्वरचित)
प्रतिभा पाण्डेय “प्रति”
चेन्नई

Language: Hindi
1 Like · 66 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शिखर पर पहुंचेगा तू
शिखर पर पहुंचेगा तू
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
तेरा-मेरा साथ, जीवन भर का...
तेरा-मेरा साथ, जीवन भर का...
Sunil Suman
शहीद -ए -आजम भगत सिंह
शहीद -ए -आजम भगत सिंह
Rj Anand Prajapati
कुछ चूहे थे मस्त बडे
कुछ चूहे थे मस्त बडे
Vindhya Prakash Mishra
परिश्रम
परिश्रम
Neeraj Agarwal
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
"मुकाबिल"
Dr. Kishan tandon kranti
😊
😊
*प्रणय प्रभात*
रोना ना तुम।
रोना ना तुम।
Taj Mohammad
सच और झूँठ
सच और झूँठ
विजय कुमार अग्रवाल
*सुख-दुख के दोहे*
*सुख-दुख के दोहे*
Ravi Prakash
वो शख्स लौटता नहीं
वो शख्स लौटता नहीं
Surinder blackpen
2358.पूर्णिका
2358.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
बिन सूरज महानगर
बिन सूरज महानगर
Lalit Singh thakur
मन चंगा तो कठौती में गंगा / MUSAFIR BAITHA
मन चंगा तो कठौती में गंगा / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
माॅर्डन आशिक
माॅर्डन आशिक
Kanchan Khanna
Starting it is not the problem, finishing it is the real thi
Starting it is not the problem, finishing it is the real thi
पूर्वार्थ
यूं ही नहीं मिल जाती मंजिल,
यूं ही नहीं मिल जाती मंजिल,
Sunil Maheshwari
एक शे'र
एक शे'र
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
जो भी आते हैं वो बस तोड़ के चल देते हैं
जो भी आते हैं वो बस तोड़ के चल देते हैं
अंसार एटवी
दुनियाभर में घट रही,
दुनियाभर में घट रही,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
वो लड़की
वो लड़की
Kunal Kanth
16- उठो हिन्द के वीर जवानों
16- उठो हिन्द के वीर जवानों
Ajay Kumar Vimal
,,,,,,,,,,?
,,,,,,,,,,?
शेखर सिंह
कामयाबी का
कामयाबी का
Dr fauzia Naseem shad
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
भुला देना.....
भुला देना.....
A🇨🇭maanush
निज धर्म सदा चलते रहना
निज धर्म सदा चलते रहना
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
ख़ुदा करे ये क़यामत के दिन भी बड़े देर से गुजारे जाएं,
ख़ुदा करे ये क़यामत के दिन भी बड़े देर से गुजारे जाएं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
रास्ता तुमने दिखाया...
रास्ता तुमने दिखाया...
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...