Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Nov 2023 · 1 min read

बच्चे (कुंडलिया )

बच्चे (कुंडलिया )
———————————————–
बच्चे बनना है कठिन, बाकी सब आसान
सीधा – सादा जो हुआ, उसमें हैं भगवान
उसमें हैं भगवान , सरलता में कठिनाई
निर्मल मन की राह,पकड़ कितनों ने पाई
कहते रवि कविराय, गौर से देखो सच्चे
होते ईश- स्वरूप , सिर्फ हैं जग में बच्चे
————————————————-
रचयिता :रवि प्रकाश, बाजार सर्राफा, रामपुर( उत्तर प्रदेश )
मोबाइल 9997615451

139 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
मन डूब गया
मन डूब गया
Kshma Urmila
एक शख्स
एक शख्स
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
भेद नहीं ये प्रकृति करती
भेद नहीं ये प्रकृति करती
Buddha Prakash
*रक्तदान*
*रक्तदान*
Dushyant Kumar
साक्षात्कार स्वयं का
साक्षात्कार स्वयं का
Pratibha Pandey
बुंदेली दोहा बिषय- बिर्रा
बुंदेली दोहा बिषय- बिर्रा
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
रोगी जिसका तन हुआ, समझो तन बेकार (कुंडलिया)
रोगी जिसका तन हुआ, समझो तन बेकार (कुंडलिया)
Ravi Prakash
शिव बन शिव को पूजिए, रखिए मन-संतोष।
शिव बन शिव को पूजिए, रखिए मन-संतोष।
डॉ.सीमा अग्रवाल
श्री राम मंदिर
श्री राम मंदिर
Mukesh Kumar Sonkar
मेरे नयनों में जल है।
मेरे नयनों में जल है।
Kumar Kalhans
धार्मिक सौहार्द एवम मानव सेवा के अद्भुत मिसाल सौहार्द शिरोमणि संत श्री सौरभ
धार्मिक सौहार्द एवम मानव सेवा के अद्भुत मिसाल सौहार्द शिरोमणि संत श्री सौरभ
World News
लफ़्ज़ों में ज़िंदगी को
लफ़्ज़ों में ज़िंदगी को
Dr fauzia Naseem shad
* नव जागरण *
* नव जागरण *
surenderpal vaidya
2666.*पूर्णिका*
2666.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मायापति की माया!
मायापति की माया!
Sanjay ' शून्य'
*माॅं की चाहत*
*माॅं की चाहत*
Harminder Kaur
"पंछी"
Dr. Kishan tandon kranti
सुबह की पहल तुमसे ही
सुबह की पहल तुमसे ही
Rachana Jha
मैं तुझसे मोहब्बत करने लगा हूं
मैं तुझसे मोहब्बत करने लगा हूं
Sunil Suman
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
■ कोई तो बताओ यार...?
■ कोई तो बताओ यार...?
*Author प्रणय प्रभात*
यहाँ किसे , किसका ,कितना भला चाहिए ?
यहाँ किसे , किसका ,कितना भला चाहिए ?
_सुलेखा.
दो शे'र
दो शे'र
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
वो अपनी जिंदगी में गुनहगार समझती है मुझे ।
वो अपनी जिंदगी में गुनहगार समझती है मुझे ।
शिव प्रताप लोधी
दीवाना - सा लगता है
दीवाना - सा लगता है
Madhuyanka Raj
ताजा समाचार है?
ताजा समाचार है?
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
होली की आयी बहार।
होली की आयी बहार।
Anil Mishra Prahari
किस्मत की लकीरें
किस्मत की लकीरें
Dr Parveen Thakur
ख़ुद के प्रति कुछ कर्तव्य होने चाहिए
ख़ुद के प्रति कुछ कर्तव्य होने चाहिए
Sonam Puneet Dubey
इतनी खुबसूरत नही होती मोहब्बत जितनी शायरो ने बना रखी है,
इतनी खुबसूरत नही होती मोहब्बत जितनी शायरो ने बना रखी है,
पूर्वार्थ
Loading...