Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Dec 2022 · 1 min read

बगावत का बिगुल

बुजदिली है मौत
हिमाकत कर दे!
कमजोरी को अपनी
ताक़त कर दे!!
तू नई नस्लों के
मुस्तककबिल के लिए!
जाग,उठ,चल अब
बगावत कर दे!!
#हकमारी #नवजागरण #विद्रोह
#आह्वान #अपील #हल्लाबोल
#rebel #Youth #students
#दलित #आदिवासी #पिछड़ा
#Suicides #motivation
#Inspiration #नौजवान

Language: Hindi
1 Like · 201 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हे राम तुम्हारा अभिनंदन।
हे राम तुम्हारा अभिनंदन।
सत्य कुमार प्रेमी
कोई तो है
कोई तो है
ruby kumari
💐प्रेम कौतुक-266💐
💐प्रेम कौतुक-266💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
रात में कर देते हैं वे भी अंधेरा
रात में कर देते हैं वे भी अंधेरा
सिद्धार्थ गोरखपुरी
रंगों के पावन पर्व होली की हार्दिक बधाई व अनन्त शुभकामनाएं
रंगों के पावन पर्व होली की हार्दिक बधाई व अनन्त शुभकामनाएं
अटल मुरादाबादी, ओज व व्यंग कवि
प्यारी ननद - कहानी
प्यारी ननद - कहानी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
तोलेंगे सब कम मगर,
तोलेंगे सब कम मगर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
विधाता छंद
विधाता छंद
डॉ.सीमा अग्रवाल
खो गयी हर इक तरावट,
खो गयी हर इक तरावट,
Prashant mishra (प्रशान्त मिश्रा मन)
लौट कर रास्ते भी
लौट कर रास्ते भी
Dr fauzia Naseem shad
इतनी महंगी हो गई है रिश्तो की चुंबक
इतनी महंगी हो गई है रिश्तो की चुंबक
कवि दीपक बवेजा
बापक भाषा
बापक भाषा
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
सजधज कर आती नई , दुल्हन एक समान(कुंडलिया)
सजधज कर आती नई , दुल्हन एक समान(कुंडलिया)
Ravi Prakash
ग्रीष्म ऋतु भाग ३
ग्रीष्म ऋतु भाग ३
Vishnu Prasad 'panchotiya'
ज़िंदगी बन गई है सूखा शज़र।
ज़िंदगी बन गई है सूखा शज़र।
Surinder blackpen
देश हमारा
देश हमारा
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
मैं  गुल  बना  गुलशन  बना  गुलफाम   बना
मैं गुल बना गुलशन बना गुलफाम बना
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
श्याम दिलबर बना जब से
श्याम दिलबर बना जब से
Khaimsingh Saini
दिल को सिर्फ तेरी याद ही , क्यों आती है हरदम
दिल को सिर्फ तेरी याद ही , क्यों आती है हरदम
gurudeenverma198
वर्णमाला हिंदी grammer by abhijeet kumar मंडल(saifganj539 (
वर्णमाला हिंदी grammer by abhijeet kumar मंडल(saifganj539 (
Abhijeet kumar mandal (saifganj)
संकल्प
संकल्प
Vedha Singh
जनता जनार्दन
जनता जनार्दन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
कुछ यूं मेरा इस दुनिया में,
कुछ यूं मेरा इस दुनिया में,
Lokesh Singh
2285.
2285.
Dr.Khedu Bharti
"अदा"
Dr. Kishan tandon kranti
ये जो उच्च पद के अधिकारी है,
ये जो उच्च पद के अधिकारी है,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
सराब -ए -आप में खो गया हूं ,
सराब -ए -आप में खो गया हूं ,
Shyam Sundar Subramanian
दिल का दर्द आँख तक आते-आते नीर हो गया ।
दिल का दर्द आँख तक आते-आते नीर हो गया ।
Arvind trivedi
#शेर
#शेर
*Author प्रणय प्रभात*
Anxiety fucking sucks.
Anxiety fucking sucks.
पूर्वार्थ
Loading...