Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Jul 2023 · 1 min read

बंद करो अब दिवसीय काम।

बंद करो अब दिवसीय काम।
आयी रजनी कर लो आराम।।

शुभ रात्रि

ओम प्रकाश श्रीवास्तव ओम

1 Like · 1 Comment · 329 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
नया सवेरा
नया सवेरा
AMRESH KUMAR VERMA
पुरानी यादें ताज़ा कर रही है।
पुरानी यादें ताज़ा कर रही है।
Manoj Mahato
🇮🇳 🇮🇳 राज नहीं राजनीति हो अपना 🇮🇳 🇮🇳
🇮🇳 🇮🇳 राज नहीं राजनीति हो अपना 🇮🇳 🇮🇳
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
टमाटर का जलवा ( हास्य -रचना )
टमाटर का जलवा ( हास्य -रचना )
Dr. Harvinder Singh Bakshi
ख़्वाब
ख़्वाब
Monika Verma
* संसार में *
* संसार में *
surenderpal vaidya
2637.पूर्णिका
2637.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
*जाता दिखता इंडिया, आता भारतवर्ष (कुंडलिया)*
*जाता दिखता इंडिया, आता भारतवर्ष (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Let your thoughts
Let your thoughts
Dhriti Mishra
संसद के नए भवन से
संसद के नए भवन से
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
जगदाधार सत्य
जगदाधार सत्य
महेश चन्द्र त्रिपाठी
Karma
Karma
R. H. SRIDEVI
कौन कहता है कि अश्कों को खुशी होती नहीं
कौन कहता है कि अश्कों को खुशी होती नहीं
Shweta Soni
"बुराई की जड़"
Dr. Kishan tandon kranti
दोहे
दोहे
अशोक कुमार ढोरिया
गाँव से चलकर पैदल आ जाना,
गाँव से चलकर पैदल आ जाना,
Anand Kumar
यह तुम्हारी नफरत ही दुश्मन है तुम्हारी
यह तुम्हारी नफरत ही दुश्मन है तुम्हारी
gurudeenverma198
(25) यह जीवन की साँझ, और यह लम्बा रस्ता !
(25) यह जीवन की साँझ, और यह लम्बा रस्ता !
Kishore Nigam
■ क़तआ (मुक्तक)
■ क़तआ (मुक्तक)
*प्रणय प्रभात*
4) “एक और मौक़ा”
4) “एक और मौक़ा”
Sapna Arora
"वक्त"के भी अजीब किस्से हैं
नेताम आर सी
दोस्ती....
दोस्ती....
Harminder Kaur
दिलबर दिलबर
दिलबर दिलबर
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रमेशराज की वर्णिक एवं लघु छंदों में 16 तेवरियाँ
रमेशराज की वर्णिक एवं लघु छंदों में 16 तेवरियाँ
कवि रमेशराज
आत्मज्ञान
आत्मज्ञान
Shyam Sundar Subramanian
मां तुम बहुत याद आती हो
मां तुम बहुत याद आती हो
Mukesh Kumar Sonkar
जीवन तेरी नयी धुन
जीवन तेरी नयी धुन
कार्तिक नितिन शर्मा
डर का घर / MUSAFIR BAITHA
डर का घर / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
नता गोता
नता गोता
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
शीर्षक:-आप ही बदल गए।
शीर्षक:-आप ही बदल गए।
Pratibha Pandey
Loading...