Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#22 Trending Author
Mar 21, 2019 · 1 min read

फागुन में (होली)

रंगों की है फुहार फागुन में
महकी महकी बयार फागुन में

हो कहीं भी सजन चले आना
तेरा है इंतज़ार फागुन में

छाई दिल पे अजीब मदहोशी
है नशा भी अपार फागुन में

फूंटने कोंपलें लगी मन में
हर जगह बिखरा प्यार फागुन में

दुश्मनों को गले लगा लेना
दिल को करना उदार होली में

रँग गये तन के साथ मन भी जो
है गज़ब का निखार फागुन में

होली आई बरस रहे रँग हैं
है दिलों में खुमार फागुन में

‘अर्चना’ छू बसंत को देखो
लाई कुदरत बहार फागुन में

21-03-2019
डॉ अर्चना गुप्ता
मुरादाबाद

245 Views
You may also like:
तरबूज का हाल
श्री रमण 'श्रीपद्'
हो तुम किसी मंदिर की पूजा सी
Rj Anand Prajapati
✍️I am a Laborer✍️
'अशांत' शेखर
✍️✍️एहसास✍️✍️
'अशांत' शेखर
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग६]
Anamika Singh
कविगोष्ठी समाचार
Awadhesh Saxena
💐कह भी डालो यार 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
नशा नहीं सुहाना कहर हूं मैं
Dr Meenu Poonia
तुलसी
AMRESH KUMAR VERMA
डगर कठिन हो बेशक मैं तो कदम कदम मुस्काता हूं
VINOD KUMAR CHAUHAN
अब भी श्रम करती है वृद्धा / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कोरोना काल
AADYA PRODUCTION
हर घर तिरंगा
Dr Archana Gupta
✍️कांटने लगते है घर✍️
'अशांत' शेखर
“ कोरोना ”
DESH RAJ
हसरतें थीं...
Dr. Meenakshi Sharma
ज़िंदगी तेरे मिज़ाज के
Dr fauzia Naseem shad
तब से भागा कोलेस्ट्रल
श्री रमण 'श्रीपद्'
फादर्स डे पर विशेष पिरामिड कविता
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मित्र
लक्ष्मी सिंह
ज्योति : रामपुर उत्तर प्रदेश का सर्वप्रथम हिंदी साप्ताहिक
Ravi Prakash
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
तपिश
SEEMA SHARMA
तेरी एक तिरछी नज़र
DESH RAJ
💐💐शरणागतस्य सर्वाणि कार्याणि परमात्मना भवन्ति💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
इश्क के आलावा भी।
Taj Mohammad
दिल की सुनाएं आप जऱा लौट आइए।
सत्य कुमार प्रेमी
कविता
Mahendra Narayan
✍️दिल बहल जाता है।✍️
'अशांत' शेखर
पावन पवित्र धाम....
Dr.Alpa Amin
Loading...