Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Mar 2023 · 1 min read

फागुन का महीना आया

फागुन का महीना आया
रंगोत्सव साथ है लाया
होली का त्यौहार हैं लाया
मन के भेद मिटाने आया।

गलती को भुलाने आया
हमको एक कराने आया
मिलकर रहे सिखाने आया
टोली में खेल खिलाने आया।

सबको रंग बिरंगा करने आया
दुश्मन को दोस्त बनाने आया
अबीर गुलाल उड़ाने आया
फागुन का महीना आया।

दिल का मैल धोने को आया
गलती पर माफी सिखाने आया
बस अच्छी बात सीखाने आया
फागुन का महीना आया।

मिलकर खेल सिखाने आया
मिलाने देखो सबको आया
होली त्योहार हमे मिलाने आया
बुरा न मानो बताने आया।

1 Like · 363 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr Manju Saini
View all
You may also like:
थक गया दिल
थक गया दिल
Dr fauzia Naseem shad
प्रियवर
प्रियवर
लक्ष्मी सिंह
लाश लिए फिरता हूं
लाश लिए फिरता हूं
Ravi Ghayal
दूर जाना था मुझसे तो करीब लाया क्यों
दूर जाना था मुझसे तो करीब लाया क्यों
कृष्णकांत गुर्जर
"आकांक्षा" हिन्दी ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
"यह कैसा दौर?"
Dr. Kishan tandon kranti
होकर उल्लू पर सवार
होकर उल्लू पर सवार
Pratibha Pandey
कलानिधि
कलानिधि
Raju Gajbhiye
मुक्तक
मुक्तक
Rajesh Tiwari
सुबह की पहल तुमसे ही
सुबह की पहल तुमसे ही
Rachana Jha
बेवफाई की फितरत..
बेवफाई की फितरत..
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
कृष्ण चतुर्थी भाद्रपद, है गणेशावतार
कृष्ण चतुर्थी भाद्रपद, है गणेशावतार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
यार
यार
अखिलेश 'अखिल'
जब बातेंं कम हो जाती है अपनों की,
जब बातेंं कम हो जाती है अपनों की,
Dr. Man Mohan Krishna
मैं स्वयं हूं..👇
मैं स्वयं हूं..👇
Shubham Pandey (S P)
जन्मदिन तुम्हारा!
जन्मदिन तुम्हारा!
bhandari lokesh
राम समर्पित रहे अवध में,
राम समर्पित रहे अवध में,
Sanjay ' शून्य'
गर्जन में है क्या धरा ,गर्जन करना व्यर्थ (कुंडलिया)
गर्जन में है क्या धरा ,गर्जन करना व्यर्थ (कुंडलिया)
Ravi Prakash
प्रेम 💌💌💕♥️
प्रेम 💌💌💕♥️
डॉ० रोहित कौशिक
चली गई है क्यों अंजू , तू पाकिस्तान
चली गई है क्यों अंजू , तू पाकिस्तान
gurudeenverma198
‘निराला’ का व्यवस्था से विद्रोह
‘निराला’ का व्यवस्था से विद्रोह
कवि रमेशराज
जीवन के गीत
जीवन के गीत
Harish Chandra Pande
खुद पर यकीन,
खुद पर यकीन,
manjula chauhan
ससुराल का परिचय
ससुराल का परिचय
Seema gupta,Alwar
अलविदा
अलविदा
ruby kumari
#प्रातःवंदन
#प्रातःवंदन
*प्रणय प्रभात*
चलना हमारा काम है
चलना हमारा काम है
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
बंदर मामा
बंदर मामा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मेरी एक सहेली है
मेरी एक सहेली है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
एक ही राम
एक ही राम
Satish Srijan
Loading...