Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Jul 2023 · 1 min read

फ़ितरत नहीं बदलनी थी ।

फ़ितरत नहीं बदलनी थी उसकी,
पहली मुलाक़ात मे जो दिखी थी,

एक ना एक दिन स्वतः बाहर आना था,
हकीकत मे जो अंदर छुपी थी,

उम्र कितनी भी गुजर जाए रह कर साथ,
बदलने की हर नाकाम कोशिशें कर जाओ,

बदल जाएगी प्रकृति परिवर्तन के साथ,
फ़ितरत नहीं बदलती किसी की कभी,

आ ही जाती है प्रत्यक्ष अनंत गहराईयों से,
कोई समझ ही नहीं सकता कब बदला सख्श,

यक़ीनन होगा नहीं विश्वास शाश्वत सत्य है बात,
फ़ितूर लेगी जन्म अमृत विष नहीं बन सकती ,

फ़ितरत कहते है इसी को ,
आपके विश्वास के साथ दग़ाबाज हो जाए।

रचनाकार –
बुद्ध प्रकाश,
मौदहा हमीरपुर।

7 Likes · 1 Comment · 245 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Buddha Prakash
View all
You may also like:
मिसाइल मैन को नमन
मिसाइल मैन को नमन
Dr. Rajeev Jain
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
पीने -पिलाने की आदत तो डालो
पीने -पिलाने की आदत तो डालो
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जीवन में सही सलाहकार का होना बहुत जरूरी है
जीवन में सही सलाहकार का होना बहुत जरूरी है
Rekha khichi
Change is hard at first, messy in the middle, gorgeous at th
Change is hard at first, messy in the middle, gorgeous at th
पूर्वार्थ
*ए.पी. जे. अब्दुल कलाम (हिंदी गजल)*
*ए.पी. जे. अब्दुल कलाम (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
अपनी समस्या का समाधान_
अपनी समस्या का समाधान_
Rajesh vyas
सफर पर है आज का दिन
सफर पर है आज का दिन
Sonit Parjapati
हमेशा फूल दोस्ती
हमेशा फूल दोस्ती
Shweta Soni
हरियाणा में हो गया
हरियाणा में हो गया
*Author प्रणय प्रभात*
दहेज.... हमारी जरूरत
दहेज.... हमारी जरूरत
Neeraj Agarwal
*तू बन जाए गर हमसफऱ*
*तू बन जाए गर हमसफऱ*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
धारण कर सत् कोयल के गुण
धारण कर सत् कोयल के गुण
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Heart Wishes For The Wave.
Heart Wishes For The Wave.
Manisha Manjari
रमेशराज के विरोधरस के दोहे
रमेशराज के विरोधरस के दोहे
कवि रमेशराज
उसको ख़ुद से ही ये गिला होगा ।
उसको ख़ुद से ही ये गिला होगा ।
Neelam Sharma
मैं तो महज आवाज हूँ
मैं तो महज आवाज हूँ
VINOD CHAUHAN
ऐ मौत
ऐ मौत
Ashwani Kumar Jaiswal
"पता नहीं"
Dr. Kishan tandon kranti
गांव की गौरी
गांव की गौरी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
2731.*पूर्णिका*
2731.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आराम का हराम होना जरूरी है
आराम का हराम होना जरूरी है
हरवंश हृदय
परीक्षा
परीक्षा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
अपने लक्ष्य की ओर उठाया हर कदम,
अपने लक्ष्य की ओर उठाया हर कदम,
Dhriti Mishra
उसकी दोस्ती में
उसकी दोस्ती में
Satish Srijan
परफेक्ट बनने के लिए सबसे पहले खुद में झांकना पड़ता है, स्वयं
परफेक्ट बनने के लिए सबसे पहले खुद में झांकना पड़ता है, स्वयं
Seema gupta,Alwar
सरस्वती वंदना-5
सरस्वती वंदना-5
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
जीवन की विफलता
जीवन की विफलता
Dr fauzia Naseem shad
हिन्दी दोहा बिषय- कलश
हिन्दी दोहा बिषय- कलश
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Loading...