Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 May 2024 · 1 min read

प्रीत ऐसी जुड़ी की

प्रीत तुझसे एैसी जुड़ी कि

उमंग का मन में डेरा है ,

मन के भावों को आज फिर

मैंने कागज पर उड़ेला है ,

रूबरू ना हो पाऊं सुनाने मन की

कागज-कलम से शब्दों का रेला है ,

रुह को छुआ था इस दिवस पर

बस प्यारा सा एहसास दे रहा है

मिलते हैं अनेक जीवन के सफर में

सुन कर आज मधुरस्वर यादों ने घेरा है ,

खुशी एक चीज ऐसी है मिल जाए

जब तो जीवन में सेहरा है ,

तमन्ना यहीं मन में एक यह भी

न जाने जीवनडोर का कितना जेला है,

खुशियों के चार चांद लग जाऐगे

बस एकबार देखना तेरा चेहरा है ।

सफर यूं मीठी यादों चलता रहेगा

आगे बढ़ो तुम यही मन दुआ दे रहा है,

नेह धागों में पिरों रखा है वह पल मैनै

उसमें ना जाने क्यूं? अपनापन ठहरा है।

नूं तो मैं मस्त हूं अपनी प्यारी गृहस्थी में

प्यार, अपनत्व का सुनहरा सवेरा है,

हरगिज़ पन्ना खोलते नहीं अपनी किताब का

कि आंखों से अश्क अभी तक बह रहा है।

-सीमा गुप्ता,अलवर राजस्थान

Language: Hindi
33 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आंखों की नदी
आंखों की नदी
Madhu Shah
🥗फीका 💦 त्योहार 💥 (नाट्य रूपांतरण)
🥗फीका 💦 त्योहार 💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
*पीयूष जिंदल: एक सामाजिक व्यक्तित्व*
*पीयूष जिंदल: एक सामाजिक व्यक्तित्व*
Ravi Prakash
Sari bandisho ko nibha ke dekha,
Sari bandisho ko nibha ke dekha,
Sakshi Tripathi
2962.*पूर्णिका*
2962.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कोठरी
कोठरी
Punam Pande
मुझे छेड़ो ना इस तरह
मुझे छेड़ो ना इस तरह
Basant Bhagawan Roy
नयकी दुलहिन
नयकी दुलहिन
आनन्द मिश्र
- जन्म लिया इस धरती पर तो कुछ नेक काम कर जाओ -
- जन्म लिया इस धरती पर तो कुछ नेक काम कर जाओ -
bharat gehlot
307वीं कविगोष्ठी रपट दिनांक-7-1-2024
307वीं कविगोष्ठी रपट दिनांक-7-1-2024
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
खो गए हैं ये धूप के साये
खो गए हैं ये धूप के साये
Shweta Soni
अपने मन के भाव में।
अपने मन के भाव में।
Vedha Singh
विराम चिह्न
विराम चिह्न
Neelam Sharma
दिल नहीं
दिल नहीं
Dr fauzia Naseem shad
*Fruits of Karma*
*Fruits of Karma*
Poonam Matia
बचा  सको तो  बचा  लो किरदारे..इंसा को....
बचा सको तो बचा लो किरदारे..इंसा को....
shabina. Naaz
सुंदर नयन सुन बिन अंजन,
सुंदर नयन सुन बिन अंजन,
Satish Srijan
सागर ने भी नदी को बुलाया
सागर ने भी नदी को बुलाया
Anil Mishra Prahari
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
Whenever things got rough, instinct led me to head home,
Whenever things got rough, instinct led me to head home,
Manisha Manjari
6
6
Davina Amar Thakral
"कड़वी ज़ुबान"
Yogendra Chaturwedi
तब गाँव हमे अपनाता है
तब गाँव हमे अपनाता है
संजय कुमार संजू
जितना मिला है उतने में ही खुश रहो मेरे दोस्त
जितना मिला है उतने में ही खुश रहो मेरे दोस्त
कृष्णकांत गुर्जर
न
न "लाइटर", न "फ़ाइटर।"
*प्रणय प्रभात*
आउट करें, गेट आउट करें
आउट करें, गेट आउट करें
Dr MusafiR BaithA
Har Ghar Tiranga : Har Man Tiranga
Har Ghar Tiranga : Har Man Tiranga
Tushar Jagawat
मन की गति
मन की गति
Dr. Kishan tandon kranti
पहुँचाया है चाँद पर, सफ़ल हो गया यान
पहुँचाया है चाँद पर, सफ़ल हो गया यान
Dr Archana Gupta
कोई भी मोटिवेशनल गुरू
कोई भी मोटिवेशनल गुरू
ruby kumari
Loading...